DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मुरादाबाद  ›  मुरादाबाद में कोरोना काल में दो लाख से अधिक खाते खुले, एटीएम एक भी नहीं
मुरादाबाद

मुरादाबाद में कोरोना काल में दो लाख से अधिक खाते खुले, एटीएम एक भी नहीं

हिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 12:30 PM
मुरादाबाद में कोरोना काल में दो लाख से अधिक खाते खुले, एटीएम एक भी नहीं

मुरादाबाद। राजीव शर्मा

एक तरफ, कोरोना से बचाव के लिए बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर ब्रांच में आने वाले ग्राहकों की संख्या कम रखने पर जोर रहा तो दूसरी तरफ कैश निकासी के लिए तमाम ग्राहकों को खराब या कैशलेस एटीएम ने काफी परेशान किया। यह कोरोना काल का असर ही रहा कि लगातार ग्राहकों के बढ़ने के बावजूद इस दौरान जिले में एक भी एटीएम नहीं खोले जा सके।

कोरोना संक्रमण की शुरुआत से अब तक जिले में एक भी नया एटीएम चालू नहीं किया गया, जबकि इस दौरान जिले के विभिन्न बैंकों में दो लाख से ज्यादा नए ग्राहकों के खाते खुल गए। संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर तमाम लोगों ने बैंक की ब्रांच में जाने के बजाय एटीएम से कैश निकासी पर जोर दिया। बीते करीब साल भर में ही जिले में बैंकों के ग्राहकों की संख्या 37 लाख तक जा पहुंची, इसके बाद भी सिर्फ 282 एटीएम ही ग्राहकों की सेवा में रहे। इनमें लगातार खराब रहने या कैशलेस एटीएम भी हैं। हालत ये है कि जिले में औसतन प्रति साढ़े तेरह हजार लोगों पर सिर्फ एक एटीएम की सुविधा है। जिसके चलते कई जगहों पर एक एटीएम से कैश निकासी का बहुत ज्यादा दबाव है। कोरोना काल में एक भी एटीएम नहीं खुलने से ग्राहकों की परेशानी बढ़ गई। सामान्य वर्षों में एक साल में पच्चीस से तीस तक नए एटीएम ग्राहकों के लिए खुलते रहे हैं।

ग्रामीण क्षेत्र के ग्राहकों की और ज्यादा आफत

एक तरफ, जिले के ग्रामीण इलाकों में एटीएम की संख्या शहरी क्षेत्र की तुलना में काफी कम है। वहीं दूसरी तरफ, ग्रामीण आबादी को बैंकिंग सेवाएं देने में अहम भूमिका निभाने वाले प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक के जिले भर में सिर्फ सोलह एटीएम हैं। जबकि, मंडल के इस ग्रामीण बैंक की मुरादाबाद जिले में ही कुल 137 शाखाएं हैं। एटीएम नहीं के बराबर होने की वजह से ग्रामीण क्षेत्र के ग्राहक कैश निकासी के लिए बैंक की शाखाओं में ही पहुंचने को मजबूर हैं।

जनधन योजना के सबसे ज्यादा खाते खुले

बैंकों में कोरोना काल के दौरान प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत सबसे ज्यादा नए खाते खुले। जिले भर में एक लाख बीस हजार से ज्यादा नए खाते जनधन के खुले। कोरोना काल के आरंभ में सरकार की तरफ से तीन महीने तक महिलाओं के जनधन खाते में एक-एक हजार रुपए की धनराशि ट्रांसफर की गई थी। बैंक अफसरों के मुताबिक इसी के असर से नया जनधन खाता खुलवाने वालों की संख्या बढ़ गई।

जिले में बैंकों की शाखाएं और एटीएम

राष्ट्रीयकृत बैंकों की 151 शाखाएं और कुल 215 एटीएम

निजी बैंकों की कुल 24 शाखाएं और 51 एटीएम

ग्रामीण बैंक की 137 शाखाएं और कुल 16 एटीएम

कोरोना काल में सामान्य बैंकिंग सेवाएं सुचारू रखना भी काफी चुनौतीपूर्ण रहा है। बैंकों का फोकस इनफ्रास्ट्रक्चर व अन्य सुविधाओं में बढ़ोत्तरी पर नहीं गया। स्थितियां सामान्य होने पर अधिक जरूरत वाली जगहों पर एटीएम को बढ़ाने का प्रयास रहेगा।

अतुल बंसल, अग्रणी जिला बैंक प्रबंधक

संबंधित खबरें