DA Image
23 जनवरी, 2021|5:04|IST

अगली स्टोरी

सीएचसी कांठ में तीमारदारों ने महिला स्टाफ से की बदसलूकी

default image

सीएचसी में प्रसव कराने आई महिला को स्टाफ ने दो घंटे रोकने के बाद जिला महिला अस्पताल रेफर कर दिया। इससे महिला के साथ आए तीमारदार भड़क उठे। उन्होंने वहां मौजूद महिला स्टाफ के साथ मारपीट कर दी। अस्पताल की कुर्सियां एवं मेज तोड़ते हुए सरकारी अभिलेख फाड़ दिए। चिकित्सिका एवं महिला स्टाफ ने बाथरूम में बंद होकर अपनी जान बचाई। हंगामा कर रहे तीमारदारों ने चिकित्साधीक्षक के भी कपड़े फाड़ दिए। इस संबंध में चिकित्साधीक्षक ने दो महिलाओं सहित चार लोगों के विरुद्ध थाना कांठ में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

ग्राम रुस्तमपुर निवासी मीनू सिंह अपनी पत्नी दीपा को प्रसव कराने रात्रि लगभग 9 बजे अपने तीमारदारों के साथ सीएचसी कांठ आए। महिला का यह प्रथम प्रसव था। आपातकालीन चिकित्सा ड्यूटी में डॉ स्वाति, सुशीला (स्टाफ नर्स) व ममता (वार्ड बॉय) तैनात थी। महिला में खून की कमी होने पर चिकित्सकों ने 2 घंटे बाद तीमारदारों को जिला चिकित्सालय मुरादाबाद रेफर कर दिया। 2 घंटे पश्चात मुरादाबाद रेफर करने पर तीमारदार आपे से बाहर हो गए। उनका कहना था कि यहां लापरवाही की जा रही है उन्हें 2 घंटे क्यों रोका गया।

अस्पताल के स्टाफ ने किसी तरह स्तिथि को नियंत्रित किया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। चिकित्साधीक्षक ने इस संबंध में मीनू सिंह(पति),  प्रकाश चंद पुत्र नौबत सिंह, यशोदा पत्नी प्रकाश चंद, रेनू पुत्र प्रकाश चंद निवासी शेरपुर रुस्तमपुर के विरुद्ध कांठ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस ने आरोपी प्रकाशचन्द को गिरफ्तार कर अदालत भेज दिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:In CHC Kant Timardars misbehaved with female staff