DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतिम सफर: पर्वतारोही रवि का अंतिम संस्कार,नम आंखों से हुए विदा

Ravi moradabad

एवरेस्ट पर भारतीय ध्वज फहराकर वापस लौटते समय एवरेस्ट की बॉलकनी इलाके में हुए हादसे में अपनी जान गंवाने वाले पर्वतारोही रवि कुमार का अंतिम संस्कार हो गया। नम आंखों से उन्हें विदाई दी गई। उत्तर प्रदेश सरकार में पंचायतराज राज्यमंत्री भूपेंद्र सिंह समेत अाला अधिकारी और गणमान्य लोग मौजूद रहे।

रवि कुमार का पार्थिव शरीर रात लगभग दो बजे मुरादाबाद पहुंचा था। काठमांडु में पोस्टमार्टम कराने के बाद विमान के जरिये दिल्ली और फिर वहां तमाम औपचारिकताएं पूरी करने के बाद रवि का भाई मनोज कुमार शहर के अन्य लोगों के साथ रात में पार्थिव शरीर को लेकर पहुंचा। भारी सुरक्षा के बीच रवि के पार्थिव शरीर को रात में तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज की मॉर्चरी में रखा गया था। सुबह सात बजे रवि की अंतिम यात्रा शुरू हुई।

ravi moradabad

रवि को श्रद्धांजलि देने और अंतिम दर्शन के लिए शव को शहर के सिविल लाइन्स स्थित अंबेडकर पार्क में रखा गया है। उत्तर प्रदेश सरकार में पंचायतराज राज्यमंत्री भूपेंद्र सिहं, नगर विधायक रितेश गुप्ता, सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग, पुलिस-प्रशासनिक अफसरों के साथ ही शहर के गणमान्य लोगों के साथ ही आम लोगों का श्रद्धांजलि देने का सिलसिला जारी है। लोगों ने रवि की जांबाजी और पर्वतारोहण के उसके जुनून के चर्चे किए।

इस दौरान रवि के चहेतों ने रवि जिंदाबाद, जब तक सूरज-चांद रहेगा, रवि तेरा नाम रहेगा के नारे भी लगाए। सुबह नौ बजे रवि के पार्थिव शरीर को रामगंगा के किनारे ला जाया जाएगा, जहां पर अंतिम संस्कार किया जाएगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:everest climber ravi kumars body reach in moradabad