DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोमवार को होगी इंजीनियर हत्याकांड की सुनवाई

चर्चित इंजीनियर हत्याकांड की सुनवाई अब सोमवार को होगी। अपर जिला जज (सात) के अवकाश पर रहने के चलते हत्याकांड पर फैसला न हो सका। प्रभारी न्यायिक अधिकारी ने पत्रावली पर सुनवाई के लिए 22 जुलाई तय की है। अलबत्ता शनिवार को कोर्ट में हत्याकांड में नूर हसन समेत दो आरोपी कोर्ट में पेश हुए। चार दिन पहले हत्याकांड के आरोपी शकील,धर्मपाल समेत चार आरोपी शनिवार को कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। तीन आरोपियों के फरार होने के चलते कोर्ट में पलायन संबंधी रिपोर्ट को पेश की जा चुकी है।

कुंदरकी के इकराम इंजीनियर हत्या की 9 अक्तूबर,14 को हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड में बहजोई के शकील समेत छह को आरोपी बनाया गया। मामले की सुनवाई मुरादाबाद एडीजे कोर्ट-7 में चली। मामले में अंतिम बहस भी कोर्ट में हो चुकी है। लेकिन इस बीच केस के तीन आरोपी दो सिपाहियों की हत्या कर फरार हो गए। बहजोई के शकील, कमल और धर्मपाल आदि को चंदौसी में बुधवार को अन्य केस में पेशी पर ले जाया गया था। जहां शाम को पेशी से लौटते हुए बंदियों ने हथियारों से पुलिस के सिपाहियों पर हमला कर दिया। दो सिपाही हरेन्द्र मलिक और ब्रजपाल को गोलियों से छलनी कर फरार हो गए। हालांकि हत्याकांड में सुनवाई पूरी होने के बाद शनिवार निर्णय होना था।

इस बीच पीठासीन अधिकारी के अवकाश पर होने से शनिवार को केस पर फैसला न हो सका। जेल में बंद आरोपी नूर हसन और राजेन्द्र कुमार को कोर्ट में पेश किया गया। दोनों आरोपियों को कड़ी सुरक्षा में लाया गया। केस से जुड़े अन्य आरोपियों के फरार होने के कारण आरोपी शकील, उसकी मां शाहीन, धर्मपाल और कमल हाजिर न हुए। दरअसल कोर्ट में शुक्रवार को ही पुलिस ने उनके पलायन संबंधी रिपोर्ट कोर्ट को दे दी। एडीजीसी महेन्द्र कश्यप का कहना है कि पीठासीन अधिकारी के अवकाश और शनिवार को अधिवक्ता के कार्य से विरत होने के चलते केस में पत्रावली पर सुनवाई अब 22 जुलाई को मुकर्रर की गई है।

पेशी के दौरान रही कड़ी सुरक्षा

चार दिन पहले हत्याकांड में मुख्य आरोपियों के फरार होने और दो सिपाहियों की हत्या की घटना को लेकर पुलिस गंभीर है। यही कारण है कि केस के शनिवार को जेल में बंद अन्य दो आरोपियों को कोर्ट में लाया गया तो वहां पुलिस चौकस रहीं। दोनों आरोपियों को सदर हवालात से कोर्ट तक कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच लाया गया। कोर्ट में पेश आरोपी नूर हसन का पुत्र शकील भी फरार है। केस में शकील की मां शाहीन पर मुल्जिम है। हत्याकांड में उनके पास से भी फिरौती की रकम पुलिस ने बरामद की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Engineer assassination hearing on Monday