DA Image
26 सितम्बर, 2020|7:33|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन में बिजली विभाग पर गिरी बिजली, जानिये क्या है मामला

default image

लॉकडाउन ने बिजली विभाग की बत्ती गुल कर दी है। सामान्य दिनों में जहां एक दिन में शहर के एक डिवीजन में 75 से 80 लाख रेवन्यू जमा हो जाता था,लॉकडाउन में घटकर 15 लाख तक पहुंच चुका है। वहीं शहर के बिजलीघरों पर खुले कैश काउंटर पर उपभोक्ताओं के न पहुंच पाने से रेवन्यू की रफ्तार पर ब्रेक सा लगा गया है। अफसरों का कहना है कि पिछले साल अप्रैल के रेवन्यू से इस माह का रेवन्यू आधे से भी कम रह गया है।

कोरोना संक्रमण के चलते लगे लॉकडाउन ने बिजली विभाग को करारा झटका दिया है । जहां शहर के एक डिवीजन से प्रतिदिन की इनकम 75 से 80 लाख के आसपास होती थी,जो अब घटकर 15 लाख के आसपास रूक गई है। डिवीजन प्रथम में वर्तमान में दस में से आठ कैश बिल काउंटर खुले है जिनसे इस महीने में करीब चार करोड़ रूपए जमा हो पाए हैं। वहीं वर्ष 2019 में इसी महीने यह रेवन्यू 9 करोड़ था। वहीं डिवीजन टू की स्थिति और अधिक खराब रही। इनके दस काउंटर में बामुश्किल छह खुले लेकिन उनमें से भी तीन चार ही ऐसे रहे जिन पर कुछ लोग पहुंचे। मंडी चौक बिजलीघर पर पूरे दिन में एक भी उपभोक्ता नहीं पहुंचा। एक्सईएन टू ने बताया कि जहां अप्रैल 2019 में रेवन्यू आठ करोड़ था, जो इस बार बामुश्किल डेढ़ करोड़ ही हो पाया है । रेवन्यू कम की एक बड़ी वजह इस डिवीजन के अधिकांश बिजलीघर हॉट स्पाट इलाके में होना है। डिवीजन तीन में भी कमोवेश ऐसे ही हालात हैं। यहां पीतलबस्ती, एक्सईएन आफिस के बिजलीघर पर खुले हैं लेकिन यहां भी कोई नहीं पहुंच रहा है।

इनफो :

शहर में डिवीजन की संख्या :3

प्रतिदिन रेवन्यू (सामान्य दिनों में) :80 लाख रूपए

लॉकडाउन में रेवन्यू की पोजीशन : 15 लाख रूपए

डिवीजन वन:अप्रैल 2019 में जमा रेवन्यू : 9 करोड़

अप्रैल 2020 में अब तक जमा रेवन्यू : 4 करोड़

डिवीजन टू: अप्रैल 2019 में जमा रेवन्यू : 8 करोड़

अप्रैल 2020 में अब तक जमा रेवन्यू : 1.5 करोड़

डिवीजन तीन: अप्रैल 2019 में जमा रेवन्यू : 8 करोड़

अप्रैल 2020 में अब तक जमा रेवन्यू : 2 करोड़

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Electricity fell on the electricity department in lockdown know what is the matter