DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सभी डॉक्टरों को लेना होगा प्रदूषण का एनओसी

जिले में सभी डॉक्टरों को अब प्रदूषण विभाग का एनओसी लेना जरूरी होगा। निजी अस्पताल व क्लीनिक संचालित करने वाले डॉक्टरों के साथ ही सरकारी अस्पतालों के डॉक्टर भी पंजीकरण व इसके नवीनीकरण से संबंधित नए नियम के दायरे में आ गए हैं।

सभी सरकारी अस्पतालों में बायो मेडिकल वेस्ट का निस्तारण सुनिश्चित कराना अनिवार्य कर दिया गया है। जिसके आधार पर अस्पतालो को प्रदूषण विभाग का एनओसी प्राप्त करना होगा। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.विनीता अग्निहोत्री ने बताया कि बायो मेडिकल वेस्ट के निस्तारण की व्यवस्था करके प्रदूषण विभाग का एनओसी प्राप्त करने का नियम सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में लागू कर दिया गया है। इसी एनओसी के आधार पर अस्पताल और क्लीनिक संचालित करने वाले डॉक्टर विभाग में अपना पंजीकरण और इसका नवीनीकरण करा सकेंगे। डॉक्टरों के पंजीकरण और नवीनीकरण की अंतिम तारीख 30 अप्रैल निर्धारित की गई है। शासन बायो मेडिकल वेस्ट के निस्तारण को लेकर बहुत ज्यादा गंभीर है। स्वास्थ्य शिविरों के आयोजन में भी इसे सुनिश्चित कराना अनिवार्य होगा। अग्निशमन विभाग का एनओसी होना भी नर्सिंग होम के पंजीकरण की शर्त रखी गई है। डॉक्टरों को झटका दे रहा पोर्टलऑनलाइन पंजीकरण व नवीनीकरण कराने के लिए डॉक्टरों को इस बार पोर्टल की सुविधा दी गई है, लेकिन, डॉक्टरों को इसमें कई दिक्कतें आ रही हैं। मनोरोग विशेषज्ञ डॉ.नीरज गुप्ता ने बताया कि अग्निशमन व प्रदूषण विभाग का एनओसी अपलोड करने पर ही इसकी प्रक्रिया आगे बढ़ रही है। उनका कहना है कि क्लीनिक के लिए अग्निशमन के एनओसी की जरूरत नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:All doctors must take NOC of pollution