ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मुरादाबादगठबंधन के बाद मंडल में नए समीकरणों से तालमेल बिठाने की चुनौती

गठबंधन के बाद मंडल में नए समीकरणों से तालमेल बिठाने की चुनौती

मुरादाबाद। मुरादाबाद मंडल में 2019 के लोकसभा चुनाव की तुलना में आगामी लोकसभा चुनाव में मौजूदा समय में बने नए समीकरणों से सियासी दलों को तालमेल...

गठबंधन के बाद मंडल में नए समीकरणों से तालमेल बिठाने की चुनौती
हिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादThu, 22 Feb 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

मुरादाबाद। मुरादाबाद मंडल में 2019 के लोकसभा चुनाव की तुलना में आगामी लोकसभा चुनाव में मौजूदा समय में बने नए समीकरणों से सियासी दलों को तालमेल बिठाने की चुनौती होगी। पिछले लोकसभा चुनाव में मुरादाबाद मंडल की सभी छह सीटों पर सपा और बसपा मिलकर चुनाव लड़े थे। कांग्रेस अलग थी। इस बार बसपा ने अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। सपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन हो गया है, जबकि सपा की सहयोगी रही रालोद अब भाजपा के साथ मिलकर अपनी राजनैतिक महत्वाकांक्षा को पल्लवित करने की तैयारी में जुट गई है।
पिछले लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन में मंडल की सभी छह सीटों पर जीत हासिल की थी। तब बसपा ने तीन और सपा ने तीन सीटें जीती थीं। मंडल में कांग्रेस और भाजपा एक भी सीट नहीं मिली थी। मुरादाबाद, संभल और रामपुर सीट सपा की झोली में गई थी और नगीना बिजनौर व अमरोहा बसपा के खाते में गई थी। आजम खां को सजा होने के बाद खाली हुई रामपुर सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा विजयी रही थी। पिछले लोकसभा चुनाव में बसपा अध्यक्ष मायावती और सपा नेता अखिलेश यादव ने मंच साझा किया था। इस बार कांग्रेस और सपा मंच साझा करेगी। भाजपा के लिए चुनौती इस बार भी गठबंधन की है, लेकिन सियासी समीकरण दूसरे हैं। भाजपा ने अपने राजनैतिक जनाधार को मजबूत करने के लिए रालोद को अपने साथ कर लिया है। बसपा का वोट बैंक उस चुनाव में सपा के साथ शिफ्ट हुआ था। इस बार गठबंधन (कांग्रेस सपा), भाजपा व बसपा एक दूसरे चुनौती देंगे। इस बार ऊंट किस करवंट बैठने वाला है यह देखने लायक होगा। कांग्रेस को इस बार अमरोहा सीट गठबंधन में मिली है। नगीना, बिजनौर, रामपुर, मुरादाबाद और संभल में सपा और उसके साथियों के प्रत्याशी होंगे। अब देखना यह है कि यह नया गठबंधन क्या पिछली बार की तरह कामयाबी की इबारत लिख सकेगी या भाजपा और बसपा उनके लिए चुनौती पेश करेंगी। नए सियासी समीकरण अलग अलग सीटों पर अलग-अलग निर्भर करेगा। भाजपा 2014 दोहराने के लिए छटपटा रही है तो बसपा अपने तीन के स्कोर को बढ़ाने के लिए चुपचाप मिशन में जुटी है। गठबंधन के बाद सपा अपनी सीटें बरकरार रखने के साथ आगे बढ़ाने की जुगत में है। कांग्रेस भी अपना खाता खोलने को जुटेगी।

मुरादाबाद मंडल में बसपा सपा गठबंधन को 2019 में वोट

लोकसभा क्षेत्र गठबंधन भाजपा

मुरादाबाद 649538 551416

अमरोहा 601082 537843

रामपुर 559177 449180

संभल 658006 483180

बिजनौर 556556 486362

नगीना 568378 401546

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें