DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

11वीं के छात्र ने खुद को गोली से उड़ाया

11वीं के छात्र ने खुद को गोली से उड़ाया

1 / 2थानाक्षेत्र निवासी 11वीं के छात्र ने अपने ही घर में खुद को गोली से उड़ा लिया। फायरिंग की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे परिजनों ने उसे घायलवस्था में अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने छात्र को मृत घोषित...

11वीं के छात्र ने खुद को गोली से उड़ाया

2 / 2थानाक्षेत्र निवासी 11वीं के छात्र ने अपने ही घर में खुद को गोली से उड़ा लिया। फायरिंग की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे परिजनों ने उसे घायलवस्था में अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने छात्र को मृत घोषित...

PreviousNext

11वीं के छात्र ने अपने ही घर में खुद को गोली से उड़ा लिया। फायरिंग की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे परिजनों ने उसे घायलवस्था में अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने छात्र को मृत घोषित कर दिया। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। वहीं पुलिस मामले की जांच कर रही है। देर शाम तक मामले में पुलिस को कोई तहरीर नहीं दी गई थी।

सुरजननगर निवासी देवेन्द्र किसानी के साथ परचून की दुकान चलाते हैं। रविवार सुबह देवेंद्र अपनी पत्नी निर्मला देवी, पुत्री खुशबू के साथ घर के आंगन में बैठे थे। उनका बेटा 11वीं कक्षा का छात्र हेमन्त घर की पहली मंजिल पर बने कमरे में था। इसी दौरान अचानक बेटे के कमरे से गोली चलने की आवाज आई। जिसपर परिजन भागकर ऊपर के कमरे में पहुंचे। जहां हेमंत को लहूलुहान स्थिति में देखकर मां निर्मला गश खाकर गिर गईं। आनन फानन में पड़ोसियों की मदद से देवेंद्र ने हेमंत को निजी चिकित्सक के पास पहुंचाया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिससे परिजनों में कोहराम मच गया। लोगों का कहना है कि देवेंद्र के पास असलाह का लाइसेंस नहीं है। हेमंत ने देशी कट्टे से खुद को गोली मारी है, लेकिन उसकी बॉडी के आसपास व कमरे से कट्टा बरामद नहीं हुआ। वहीं परिजन देशी कट्टे के बारे में कुछ भी बता नहीं पा रहे थे। जबकि पुलिस का कहना है कि उन्हें परिजनों ने घटना की सूचना नहीं दी। फिर भी अज्ञात व्यक्ति की सूचना से पुलिस मौके पर पहुंची थी। जहां जांच के दौरान असलाह बरामद नहीं हुआ। इसको लेकर मोहल्ले में तरह-तरह की चर्चाएं हो रहीं थी।

एक साल पहले चचेरे भाई की करंट से हो गई थी मौत

परिजनों का कहना है कि एक साल पहले मृतक के चचेरे भाई की बिजली का करंट लगने से मौत हो गई थी। तभी से हेमंत की दिमागी हालत खराब चल रही थी। जिसका वे इलाज करा रहे थे। परिजनों का कहना है कि दिमागी हालत ठीक नहीं होने के कारण अक्सर हेमंत अजीबोगरीब हरकतें करने लगता था। जिसके कारण घरवाले चिंतित रहते थे।

घटना के बाद बेहोश हुई मां, बिना पोस्टमार्टम अंतिम संस्कार

11वीं के छात्र द्वारा खुद को गोली से उड़ाने के मौके पर पहुंची मां बेटे को तड़पता देखकर बेहोश होकर गिर गई। जिसे किसी तरह बहन खुशबू ने संभाला। वहीं चिकित्सकों द्वारा छात्र को मृत घोषित कर देने के बाद परिजनों ने बिना पुलिस को जानकारी दिए शव का अंतिम संस्कार कर दिया। जिससे दबी जुबान से मोहल्ले के लोग परिजनों की भूमिका पर भी सवाल उठा रहे थे। सुरजननगर चौकी के हेड कांस्टेबल ओमबीर सिंह का कहना है कि पुलिस को मोहल्ले के किसी व्यक्ति ने घटना की सूचना दी थी। जिसपर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन उससे पहले ही परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया। उसके परिवार ने इस समय माता-पिता के अतिरिक्त उसकी अकेली बहन खुशबू रह गयी है तथा उसके जाने पर पूरे परिवार का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:11th student shot himself