ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश मुरादाबादकिसान सम्मान निधि के 1000 नए आवेदन फंसे

किसान सम्मान निधि के 1000 नए आवेदन फंसे

मुरादाबाद। मुरादाबाद में किसान सम्मान निधि के 1000 आवेदन फंसे हैं। दो तहसीलों में सत्यापन की रफ्तार इतनी सुस्त है कि किसान परेशान हैं। जिलाधिकारी...

किसान सम्मान निधि के 1000 नए आवेदन फंसे
default image
हिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादWed, 19 Jun 2024 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

मुरादाबाद। मुरादाबाद में किसान सम्मान निधि के 1000 आवेदन फंसे हैं। दो तहसीलों में सत्यापन की रफ्तार इतनी सुस्त है कि किसान परेशान हैं। जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने इस मामले में संज्ञान लेकर अफसरों को अल्टीमेटम दिया है। कहा कि जल्द किसान सम्मान निधि की पेंडेंसी निपटाई जाए।
मुरादाबाद जिले में चार तहसीलों में किसान सम्मान निधि के फार्म का सत्यापन किया जा रहा है। इसमें मुरादाबाद सदर तहसील का काम सबसे ज्यादा पीछे है। यहां आठ सौ से ज्यादा फार्म पेंडिंग हैं। वहीं ठाकुरद्वारा में भी कुछ फार्म पेंडिंग चल रहे हैं। सिर्फ कांठ और बिलारी में एसडीएम ने संज्ञान लेकर इस कार्य को पूरा किया है। जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने चारों तहसीलों से रिपोर्ट मांगी तो खुलासा हुआ। जिलाधिकारी ने एसडीएम सदर और ठाकुरद्वारा से जल्द काम पूरा करने को कहा है। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में किसान सम्मान निधि का काम पिछड़ना नहीं चाहिए। शासन की प्राथमिकता के चलते इस कार्य में ढिलाई बर्दाश्त नहीं होगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि मुरादाबाद में सभी तहसीलों के एसडीएम को निर्देशित किया कि किसान सम्मान निधि का जहां भी काम अधूरा है उसे पूरा करके रिपोर्ट सौंपी जाए। केंद्र सरकार ने भी शपथ ग्रहण के बाद ही किसानों के लिए ही सम्मान निधि की किश्त का ऐलान किया। इससे अफसरों को अंदाजा है कि सरकार की प्राथमिकता में किसान हैं फिर भी कुछ अफसरों का रवैया ठीक नहीं है। इसी पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए काम पूरा करने की हिदायत दी है।

किसान सम्मान निधि में तहसीलवार पेंडेंसी का स्तर

तहसील नाम फार्म पेडिंग

मुरादाबाद सदर 882

ठाकुरद्वारा 112

बिलारी 00

कांठ 00

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।