DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़को के निर्माण और मरम्मत में भी चल रहा लाखों का खेल

सड़को के निर्माण और मरम्मत में भी चल रहा लाखों का खेल

जिले में बनाई जा रही सड़को और मरम्मत के नाम पर भी लाखों का खेल खेला जा रहा है। बरसात के मौसम में सड़के उखड़कर या तो गड्ढो में तब्दील हो चुकी है या फिर उनका नामोनिशान मिट रहा है। सड़के खराब होने से लोगों को आवाजाही में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सड़को की जांच न होने से अभियन्ता मालामाल है। इसकी शिकायत सीडीओ से की गई है।

कानपुर - सागर नेशनल हाइवे में खन्ना गांव टोलप्लाजा के पास से बहिगा गांव के आगे तक सड़क निर्माण का कार्य करीब 4 साल पहले कराया गया था जिसमे लगभग पांच करोड़ रुपए खर्च किए गए थे इसके अलावा हर साल मरम्मत के काम में भी लाखों की रकम खर्च होती चली गई लेकिन आज भी यह सड़क चलने लायक नहीं बची। इसी तरह चरखारी से गौरहारी और उसके आगे तक की सड़क पूरी तरह उखड़कर बर्बाद हो चुकी है। इस सड़क के निर्माण और मरम्मत के नाम पर करोड़ों की धनराशि ठिकाने लग चुकी है। लेकिन आज भी इस सड़क का बुरा हाल है। इसी तरह कबरई से कुनेहटा तक बनवाई गई सड़क का कहीं-कहीं नामों निशान तक मिट गया है। जिससे हर रोज वाहनों की टूट-फूट भी हो रही है। समाजसेवी मंगल सिंह, महेश तिवारी उर्फ नाना, रामबहादुर, राजेश यादव आदि ने सीडीओ को शिकायत भेजकर इन सड़कों की जांच कराए जाने की मांग की है। सीडीओ हीरा सिंह का कहना है कि सड़कों की बहुत शिकायते मिल रही है इनकी जांच कराई जाएगी । जो भी दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कार्यवाही होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The game of millions running in the construction and repair of roads