DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रेम से परमात्मा को प्राप्त किया जा सकता है: अनुरागी

प्रेम से परमात्मा को प्राप्त किया जा सकता है: अनुरागी

संत कबीर अमृतवाणी सत्संग समिति के तत्वाधान में रविवार को सत्संग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसकी शुरूआत जय कबीर, जय कबीर ,जय गुरू कबीरा से हुई। सत्संग में श्रीमती रामकली, कु0 ज्योति और मोहिनी सेन ने भजन - भजन कर जग में जीवन सार सुनाया। इस मौके पर भक्तों ने कहा कि प्रेम से परमात्मा को प्राप्त किया जा सकता है।

बुन्देली कवि हरदयाल हरि अनुरागी व विदेश विद्यासन ने भक्ति रचनाएं पेशकर सभी को भाव - विभोर कर दिया। पं0 हरिशंकर नायक , आशाराम तिवारी और हीरेन्द्र तिवारी ने सत्संग का महत्व बताते हुए कहा कि सत्संग से हर बिगड़े काम बनते है एवं धर्म,अर्थ,व मोक्ष की प्राप्ति होती है। वीर भूमि राजकीय महाविद्यालय के प्रवक्ता डॉ0 एल सी अनुरागी ने कहा कि धर्म वही है जो तुम्हे प्रेम के अमृत से भर दे। प्रेम से ही परमात्मा को पाया जा सकता है। जीवन में तीन चीजे - प्रेम, त्याग और सेवा जरूरी है कहा कि प्रेम से परमात्मा की सेवा , त्याग से समाज सेवा और स्वयं को संतुष्टि मिलती है। कार्यक्रम में कमलापत, किशोरदादा पुरवार, रामअवतार सेन आदि रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Spirit can be attained with love: loving