DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  महोबा  ›  महोबा में शिक्षामित्रों ने की मानदेय देने की मांग
महोबा

महोबा में शिक्षामित्रों ने की मानदेय देने की मांग

हिन्दुस्तान टीम,महोबाPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:02 AM
महोबा में शिक्षामित्रों ने की मानदेय देने की मांग

महोबा | संवाददाता

शिक्षा मित्रों को कोरोना काल में परेशानियों से दो चार होना पड़ रहा है। 12 माह काम करने के बाद शिक्षा मित्रों को 11 माह का मानदेय मिल रहा है। संगठन ने अतिरिक्त मानदेय की मांग उठाई है। इसके साथ ही पंचायत चुनाव में ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले शिक्षामित्र को शिक्षक की तर्ज पर मुआवजा व परिजनों को सरकारी नौकरी की मांग की गई है।

जिले में चार सैकड़ा से अधिक शिक्षामित्र हैं। शिक्षामित्र पंचायत चुनाव कोविड सर्वे सहित अन्य कार्यो में सहयोग कर रहे हैं। कंट्रोल रूम में भी शिक्षामित्रों की ड्यूटी लगाई गई है मगर जून माह में लंबे समय से शिक्षामित्रों को मानदेय नही मिल रहा है। आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष विमल चंद्र त्रिपाठी का कहना है कि लंबे समय से शिक्षामित्रों के हक की मांग उठाई जा रही है। मगर शिक्षा मित्रों की मांगो को नजर अंदाज किया जा रहा है। उन्होने कहा कि वर्तमान में जिले में 449 शिक्षामित्र कार्यरत हैं। पंचायत चुनाव में शिक्षामित्रों की ड्यूटी लगाई गई। कोरोना काल में ड्यूटी के दौरान पनवाड़ी के एक साथी की मौत हो चुकी है। इसके बावजूद शिक्षामित्रों की समस्याओं को गंभीरता से नही लिया जा रहा है। उन्होने कहा कि शिक्षामित्रों के साथ सरकार पक्षपात कर रही है। जिससे शिक्षामित्रों को आर्थिक तंगी से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने जून माह में लिए जा रहे विभागीय कार्यो के ऐवज में मानदेय की मांग उठाई है।

संबंधित खबरें