DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मिर्जापुर › सावन के दूसरे सोमवार को भगवान शिव का दर्शन-पूजन
मिर्जापुर

सावन के दूसरे सोमवार को भगवान शिव का दर्शन-पूजन

हिन्दुस्तान टीम,मिर्जापुरPublished By: Newswrap
Tue, 03 Aug 2021 03:20 AM
मिर्जापुर। संवाददाता
 पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...
1 / 4मिर्जापुर। संवाददाता पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...
मिर्जापुर। संवाददाता
 पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...
2 / 4मिर्जापुर। संवाददाता पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...
मिर्जापुर। संवाददाता
 पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...
3 / 4मिर्जापुर। संवाददाता पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...
मिर्जापुर। संवाददाता
 पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...
4 / 4मिर्जापुर। संवाददाता पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने...

मिर्जापुर। संवाददाता

पवित्र सावन मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में शिव भक्तों ने बाबा भोलेनाथ का दर्शन कर आशीर्वाद लिया। साथ ही औघड़दानी भूत भावन भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए दूग्धाभिषेक,रूद्रा भिषेक के साथ ही विल्वपत्र, भांग,धतूरा के साथ कनेर,बेला आदि पुष्प अर्पित कर कल्याण की मनोकामना की। सुबह से ही मंदिरों पर भक्त जयकारे के साथ पहुंचे। और बारी-बारी से भगवान नीलकंठ के दर्शन किये।नगर के बुढ़ेनाथ महादेव,ताड़केश्वर महादेव, पंचमुखी महादेव,नागेश्वर महादेव के साथ विंध्याचल के रामेश्वर महादेव आदि मंदिरों में दर्शन पूजन का क्रम चलता रहा। घंटा-घड़ियाल के टंकार और बम-बम भोले के जयकारे से वातावरण धर्ममय रहा। कोविड से बचाव के लिए मंदिरों में प्रवेश के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखने की हिदायत मंदिर प्रशासन की ओर से दी जाती रही। लोग कतारबद्ध खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करते रहे। बुढ़ेनाथ महादेव व पंचमुखी महादेव का शाम को बेला,चमेली,गेंदा आदि पुष्पों से भव्य एवं आकर्षक श्रृंगार किया गया। शिव के श्रृंगार दर्शन करने के लिए भक्तों की भीड़ लगी रही। साथ ही आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया।

वहीं हलिया स्थित कोटारनाथ शिव धाम में शिव-पार्वती के दर्शन पूजन के लिए भक्तों लंबी लाइन लगी रहीं। मंगला आरती के बाद हर-हर, बम-बम के जयकारे शिव धाम में गूंजता रहा। अदवा नदी में स्नान कर भक्त शिव व मां पार्वती, भैरो-नन्दी, प्रथम पूज्य भगवान गणेश, पवन पुत्र हनुमान जी महाराज का दर्शन पूजन कर बेलपत्र, नारियल, माला-फूल प्रसाद भेंट चढ़ाकर परिक्रमा की। पुलिस प्रशासन की व्यवस्था में पुरुष तथा महिला भक्तों की अलग-अलग कतारें लगी रहीं। पूजा-पाठ के बाद भक्त अदवा नदी के तट पर बाटी-चोखा लगाकर आनंद उठाएं।

संबंधित खबरें