DA Image
30 नवंबर, 2020|5:08|IST

अगली स्टोरी

ग्रामीणों ने विरोध कर नाली का निर्माण रोकवाया

ग्रामीणों ने विरोध कर नाली का निर्माण रोकवाया

राष्ट्रीय राजमार्ग सात के चौड़ीकरण के दौरान बरौधा बाईपास से प्रयागराज मोड़ तक बरसात व बांध से आने वाले पानी की निकासी के लिए नाली निर्माण में मानक की अनदेखी करने का ग्रामीणों ने आरोप लगाया। ग्रामीणों ने विरोध कर नाली का निर्माण रोकवाया दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि नाली का निर्माण जमीन के लेबल से लगभग तीन फुट उपर किया जा रहा है। यहीं पर बरौंधा पीएचसी व राजकीय कन्या इंटर मीडिएट कालेज भी है। दोनों संस्थाओं के लेबल से भी नाली उपर है। ग्रामीणों को डर है कि नाली के बन जाने से बरसाती पानी का निकासी पूरी तरह से अवरूद्ध हो जाएगा। स्कूल और अस्पताल में पानी भर जाएगा। जिससे नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों,चिकित्सकों व स्कूल में छात्राओं, अध्यापिकाओं का आना-जाना मुश्किल हो जाएगा। इसके अलावा कई घरों में पानी भरने की संभावना बलवती हो गई है। इससे पहले हाइवे के किनारे पानी निकासी के लिए नाला था। नाले से बरसाती पानी बेलन नदी में चला जाता था। सड़क के पानी निकासी के लिए बनाई जा रही नाली ज़मीन से लगभग तीन फुट उपर है। इससे सैकड़ों एकड़ खेतों के पानी निकलने का रास्ता अवरूद्ध हो रहा है। फिलहाल ग्रामीणों ने बेतरतीब बन रहे नाली का विरोध कर कार्यदायी संस्था से काम रोकने की गुजारिश की है। ग्रामीणों ने उप जिलाधिकारी लालगंज जंग बाहदुर यादव तक अपनी बात पहुंचा दी है। एसडीएम ने भी काम बंद करने को कहा है। साथ ही डीबीएल कंपनी के अधिकारियों से बात करने का भी ग्रामीणों को भरोसा दिलाया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Villagers protested and stopped construction of the drain