DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मिर्जापुर › बारिश में झरना बन जाता है विद्यालय का छत
मिर्जापुर

बारिश में झरना बन जाता है विद्यालय का छत

हिन्दुस्तान टीम,मिर्जापुरPublished By: Newswrap
Thu, 16 Sep 2021 07:50 PM
बारिश में झरना बन जाता है विद्यालय का छत

अदलहाट। हिन्दुस्तान संवाद

जमालपुर ब्लॉक के छोटा मिर्ज़ापुर स्थित छह दशक पुराने एवं जर्जर प्राथमिक विद्यालय के बच्चे जीवन को दांव पर लगाकर शिक्षा ग्रहण करने को विवश हैं। बारिश होने पर विद्यालय की छत से पानी टपकने लगता है जिसमे बैठकर पढ़ना मुश्किल हो जाता है। हालत यह है कि स्कूल के 298 बच्चे बरामदे में बैठने को मजबूर हैं।

गुरुवार को अपने बच्चों को विद्यालय छोड़ने गए अभिभावक विद्यालय की स्थिति देखकर आपा खो बैठे और बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों से शिकायत कर तत्काल छत की मरम्मत कराने की मांग की। वर्ष-1961 में निर्मित विद्यालय के चार कक्ष पुराने एवं जर्जर हैं। जानकारी होने के बाद भी शिक्षा विभाग जिम्मेदार अधिकारी आंखे बंद किए हुए हैं। वाराणसी जनपद से सटे विद्यालय होने की वजह से विद्यालय पर 12 शिक्षक कार्यरत हैं।

अभिभावक संतोष साहनी, लक्ष्मीना देवी,अमरनाथ साहनी, निर्मला देवी,प्रेम शंकर,राजकुमार आदि ने चेताया कि उनके बच्चों व शिक्षकों के साथ किसी प्रकार की अनहोनी होती है तो इसकी जिम्मेदारी शिक्षा विभाग व जिला प्रशासन की होगी। कई बार पत्र व शिकायती पत्र देने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई।

छोटा मिर्जापुर के जर्जर विद्यालय भवन के बारे में परियोजना को पत्र लिखकर जानकारी दे दी गई है। स्वीकृति मिलने के बाद निर्माण कार्य कराया जाएगा।- अरुण कुमार सिंह, बीईओ, जमालपुर

संबंधित खबरें