अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी : जिस पुल का पीएम को करना है उद्घाटन, वहां सपाइयों ने फीता काट दौड़ाई बाइक-VIDEO

पीएम के लोकार्पण से पहले सपाईयों ने चुनार पुल का फीता काटा

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लोकार्पण से पहले ही बड़ी संख्या में सपाईयों ने जिले के चुनार में गंगा नदी पर बने पक्का पुल पर फीता काटकर बाइक से आर-पार की यात्रा की। प्रशासन और पुलिस को इसकी कानोकान भनक तक नहीं लग पायी। खुफिया और एसपीजी को भी सपा की योजना का पता नहीं चल पाया है। पीएम के आने के पहले आयोजन को प्रभावित किया जाना कहीं न कहीं से सुरक्षा में चूक है। इसे लेकर भाजपा और अपना दल एस के नेताओं के साथ ही कार्यकर्ताओं में भी नाराजगी देखी गई।

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 जुलाई को जिले में आ रहे हैं। वह बाणसागर परियोजना,चुनार पक्का पुल का लोकार्पण करेंगे। इसके साथ ही राजकीय मेडिकल कालेज, मिर्जापुर इलाहाबाद मार्ग का शिलान्यास भी करेंगे। इसे लेकर तैयारियां युद्ध स्तर पर चल रही है। भाजपा और सहयोगी दल अपना दल एस की ओर से कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंकी गई है। देश और प्रदेश की सारी सुरक्षा एजेंसियों ने यही पर डेरा जमाया है। बावजूद इसके सपा जिलाध्यक्ष आशीष यादव की अगुवायी में बड़ी संख्या में पदाधिकारी, कार्यकर्ता चुनार में गंगा नदी पर बने पक्का पुल पर पहुंच गए। उन्होंने वहां पहुंचकर पुल पर फीता बांधकर काटा और बाइक से पुल को आर पार करके लौट आए। 

सपा नेताओं ने कहाकि यह पुल उनकी सरकार के कार्यकाल है। ऐसे में उसके लोकार्पण का अधिकार उनको है। इसलिए उनलोगों ने लोकार्पण कर दिया। सपाईयों के आने के बाद तक प्रशासन को पता नहीं चला। जब सोशल मीडिया पर सपाईयों के आयोजन का वीडियो वायरल हुआ और भाजपा व अपना दल एस के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने इसे देखकर नेताओं तक पहुंचा तब खलबली मची। भाजपा के नेताओं ने डीएम और एसपी से इस बारे में पूछताछ की गई तो बताया गया कि कोई लोकार्पण नहीं हुआ है। पुल बना ही लोगों के आवागमन के लिए है तो उस पर आना जाना कोई लोकार्पण नहीं है। फिर भी भाजपा के नेताओं ने कहाकि सपाईयों को ऐसा करने से रोकना तो चाहिए था। 

पुल पर फीता काटकर यात्रा करने वालों में पूर्व विधायक जगतंबा पटेल, देवी प्रसाद चौधरी,संतोष यादव, बच्चा बाबू यादव, रामलखन यादव, सुरेश यादव, सूर्यबली यादव, रोहित शुक्ला, सुनील कुमार पाण्डेय, अभय यादव, उपेन्द्र तिवारी, नितेश तिवारी, रविन्द्र कुमार, सुशील कुमार पाण्डेय,आशीष दुबे, गुलाम मुस्तफा, विक्रांत उपाध्याय, परवेज भाई,रविशंकर, अब्दुल खालिद, ध्यानचंद, स्वामीशरण दुबे, सुनील सिंह पटेल आदि रहे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:SP workers cut lace of Chunar bridge before release of PM