DA Image
15 नवंबर, 2020|11:33|IST

अगली स्टोरी

नए कृषि कानून का किया विरोध

नए कृषि कानून का किया विरोध

जमालपुर बाजार में रविवार को भारतीय किसान सेना की पंचायत में सरकार पर किसानों के प्रति सौतले व्यवहार किए जाने का आरोप लगाया गया। कहा गया कि एक माह के भीतर समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो आंदोलन होगा। साथ ही गांव में पहुंचकर संगठन को मजबूत करने पर जोर दिया गया। किसान पंचायत में भारतीय किसान सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामराज सिंह पटेल ने कहा कि शासन की गलत नीतियों से किसान परेशान है। केंद्र सरकार ने नया कृषि कानून लाकर किसानों को बड़े व्यापारियों के हाथ गुलाम बनाने का प्रयास किया है। नया कृषि कानून लागू हो जाने पर किसानों को उनकी उपज का सही कीमत नहीं मिल पायेगा और बड़े व्यापारी किसानों का मनमाने तरीके से शोषण करेगे।नये कृषि कानून मे कही भी न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी नहीं दी गई है।इस सरकार मे लोगो के अर्थव्यवस्था चौपठ हो गयी है। खेतो में पराली जलाने पर किसानों के उपर दंड के प्रावधान से किसान मर्माहत है। जमालपुर साधन सहकारी समिती और पीसीएफ केंद्र बहुआर को धान क्रय केंद्र बनाये जाने की मांग किया और कहा कि अगर एक सप्ताह के भीतर क्रय केंद्र नहीं बनाया गया तो किसान सेना बड़े आंदोलन को बाध्य होगी। खेत खलिहान के सीजन मे चट्टी चौराहों पर वाहन चेकिंग के नाम पर पुलिस द्वारा किसानो का उत्पीड़न किया जा रहा है, जिसे तत्काल बंद किया जाय। पंचायत मे अशोक दीक्षित ,मंगला सिंह रामवृक्ष सिह सुरेंद्र सिंह मुन्ना सिंह इत्यादि किसानों नेताओं ने अपनी बात रखी। इस दौरान ब्लाक अध्यक्ष सत्येंद्र सिंह, अमरनाथ सिंह, अशोक पाठक, सतीश सिंह रामवृक्ष सिंह, लक्ष्मी तिवारी, भोलानाथ शर्मा, सदावृक्ष सिंह,सुरेंद्र पटेल,हसन खान,पप्पू पांडेय ईत्यादि किसान मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Opposed the new agricultural law