DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मिर्जापुरग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं

ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं

हिन्दुस्तान टीम,मिर्जापुरNewswrap
Mon, 01 Nov 2021 03:03 AM
मिर्जापुर। संवाददाता 
 जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...
1/ 4मिर्जापुर। संवाददाता जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...
मिर्जापुर। संवाददाता 
 जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...
2/ 4मिर्जापुर। संवाददाता जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...
मिर्जापुर। संवाददाता 
 जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...
3/ 4मिर्जापुर। संवाददाता जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...
मिर्जापुर। संवाददाता 
 जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...
4/ 4मिर्जापुर। संवाददाता जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले...

मिर्जापुर। संवाददाता

जिले की ग्रामीण सड़कों का कोई पुरसा हाल नहीं है। जिले के अलग-अलग ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों की स्थित का जायजा हिन्दुस्तान ने किया। जमालपुर ब्लाक मुख्यालय को जोड़ने वाली सड़के गढ्ढों में तब्दील हो चुकी हैं। इसी प्रकार अहरौरा चुंगी से बाईपास मार्ग, नेशनल हाईवे सात से दुबार-दीप नगर 15 किमी संपर्क मार्ग हो या कैलहाट बाजार से गांगपुर पीपपुल तक आठ सड़क सभी की स्थिति एक जैसी है। बेला से बगही के बीच गंगा के बाढ़ में सड़क बह गई है लेकिन जिम्मेदारों को जरा भी ध्यान नहीं है। दुश्वारियों के बीच ग्रामीणों का घर से बाहर निकलने और आये दिन चोटिल होना पड़ता है।

जमालपुर ब्लाक मुख्यालय को जोड़ने वाली क्षेत्र की सड़कें, सम्पर्क मार्ग जर्जर हो गई हैं। निर्माण के छह महीने बाद ही गिट्टियां उखड़कर बड़े-बड़े गढ्ढे में तब्दील हो चुकीं हैं। जमालपुर-जलालपुर मार्ग, जमालपुर-रानीबाग मार्ग, जमालपुर-रामपुर मार्ग, हर्दी सहिजनी-खजरौल मार्ग,तेतरियां-मदरा संपर्क मार्ग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा हैं। जबकि मरम्मत के नाम पर प्रत्येक वर्ष सड़कों की सबंधित विभाग तारकोल गिट्टी छिड़कते हैं लेकिन हाल वही इधर गिट्टी काला तारकोल से लेपन कर गए उधर से गिट्टी बाइक, कार के पहिए के साथ अपने आप उड़ने लगती है।

अहरौरा में सालों से खस्ता हाल बाईपास-अहरौरा चुंगी मार्ग पर आवागमन दुश्वार हो गया है। हालत यह है कि कभी शानदार सड़क रही लेकिन मौजूदा समय में यह कहना मुश्किल है कि यह सड़क है। लगभग एक किलोमीटर के संपर्क मार्ग मिट्टी डाली गई है। यही नहीं इसी संपर्क मार्ग पर स्वच्छ भारत मिशन के देश व्यापी अभियान को दम तोड़ते भी देखा जा सकता है। लहंगपुर के नेशनल हाई वे से दुबार-दीप नगर 15 किलो मीटर संपर्क मार्ग पर सड़के नाम पर धूल-मिट्टी व गढ्ढे ही शेष बचे हैं। सड़क बनती है तो ओवर लोडवाहनों के पहिये से दबकर तत्काल ही उखड़ने लगती है। इसी मार्ग पर कई क्रशर दिनरात चल रहे हैं। ग्रामीण सड़क की ओवर लोड वाइन दुश्मन बन बैठे हैं। फजिहत ग्रामीणों को हो रही है। ग्रामीणों की माने तो पिछले साल ही सड़क की मरम्मत कराया गया था। मरम्मत के कुछ दिनों बाद से सड़क उखड़ गई। अब लोगों को उबड़-खाबड़ और धूल-धक्कड़ के बीच आवागमन करना पड़ रहा है। कभी सड़क कोलतार स्वरूप में आ पाएगी यह कहना मुश्किल है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें