DA Image
22 सितम्बर, 2020|10:45|IST

अगली स्टोरी

लापता डॉक्टर का चौथे दिन भी पता नहीं चला

लापता डॉक्टर का चौथे दिन भी पता नहीं चला

भटौली पुल से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता मंडलीय अस्पताल के वरिष्ठ परामर्शदाता डा. जेपी त्रिपाठी चौथे दिन भी कुछ पता नहीं चला। मंगलवार की सुबह से ही देहात कोतवाली पुलिस, पीएसी की फ्लड व सेतु निगम की टीम गंगा में तलाश की। साथ ही स्थानीय गोताखोरों को लगाकर खोजबीन करायी गयी। लेकिन लापता डाक्टर का कुछ पता नहीं चला। पुलिस लापता डाक्टर की जिले के आश्रम, मठ व मंदिरों में भी लगातार तलाश करा रही है। क्योंकि डाक्टर का आध्यात्म से भी जुड़ाव था। ऐसे में पुलिस इस एंगल से भी लापता डाक्टर की तलाश कराने में जुटी है। मंडलीय अस्पताल में तैनात डा. जयप्रकाश त्रिपाठी 22 अगस्त को ड्यूटी आते समय देहात कोतवाली के भटौली पुल पर ड्राइवर से अपनी कार रुकवाई थी। शौच के लिए जाने की बात कहकर वह पुल के नीचे की ओर गए। संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गए। लापता डाक्टर की गुत्थी सुलझाने में पुलिस दिन रात लगी हुयी है। लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ कुछ भी नहीं लग सका है। एएसपी सिटी संजय वर्मा ने बताया कि चौथे दिन लापता डाक्टर के व्हाट्सएप की पड़ताल की गयी। फिलहाल वें फेसबुक, ट्वीटर व इंस्टाग्राम नहीं चलाते थे। इसके अलावा उनके खाते की भी जांच करायी गयी। डाक्टर के लापता होने के बाद से उनके खाते से कोई छेड़छाड़ नहीं हुयी है। काल डिटेल से पता चला कि डाक्टर ने अंतिम बार अपनी बेटी से बात की थी। जबकि अंतिम काल उनकी पत्नी का आया था। इसके बाद उन्होंने किसी अन्य व्यक्ति से बात नहीं की थी। पुलिस के लिए लापता डाक्टर की गुत्थी उलझ कर रह गयी है। एक बार और कुछ देर के लिए गायब हुए थे जयप्रकाशएएसपी सिटी संजय वर्मा ने बताया कि एक-दो बार और डा. जयप्रकाश गायब हो चुके थे। लेकिन कुछ घंटों बाद वापस अपने घर लौट आए थे। पुलिस की पूछताछ में लापता डाक्टर की पत्नी डा. सुनंदा ने बताया कि वें घर पर किसी बात से नाराज होकर एक-दो बार जा चुके हैं। लेकिन कुछ घंटों बाद वापस घर लौट आए थे। कभी भी इतने लंबे समय तक कहीं नहीं गए थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Missing doctor was not found even on the fourth day