DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मिर्जापुर  ›  ट्रेन के आगे लेटकर बेटे संग मां ने दे दी जान, बेटी जख्मी
मिर्जापुर

ट्रेन के आगे लेटकर बेटे संग मां ने दे दी जान, बेटी जख्मी

हिन्दुस्तान टीम,मिर्जापुरPublished By: Newswrap
Thu, 29 Apr 2021 11:00 PM
ट्रेन के आगे लेटकर बेटे संग मां ने दे दी जान, बेटी जख्मी

नरायनपुर। हिन्दुस्तान संवाददाता

अदलहाट थाना क्षेत्र के भभुआर गांव के सामने गुरुवार की शाम रेलवे ट्रैक पर दो बच्चों संग महिला ट्रेन के आगे लेट गई। ट्रेन की चपेट में आने से मां-बेटे की मौत हो गई। जबकि बेटी गंभीर रुप से जख्मी हो गई। प्राथमिक उपचार के बाद उसे वाराणसी ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया है। महिला ऐसा कदम क्यों उठाया? इसकी जानकारी नहीं हो सकी। पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई है। नरायनपुर चौकी क्षेत्र के कोल्हुआ गांव निवासी 45 वर्षीय विद्या देवी मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करती थी। उसके पति की पहले ही मौत हो चुकी थी। चार बच्चों संग वह गांव में ही रहती थी। शाम लगभग साढ़े तीन बजे महिला अपने 12 वर्षीय पुत्र मोनू व 14 वर्षीय पुत्री सुषमा के साथ अहरौरा रोड रेलवे स्टेशन के पास पहुंची। भभुआर गांव के सामने रेलवे ट्रैक किनारे काफी देर तक बैठी रही। तभी अप लाइन पर ट्रेन आ रही थी। ट्रेन आती देखी महिला अपने दोनों बच्चों के साथ रेलवे ट्रैक पर लेट गई। ट्रेन की चपेट में आने महिला की घटनास्थल पर मौत हो गई। जबकि पुत्र व पुत्री दोनों गंभीर रुप से जख्मी हो गए। घटनास्थल पर आस-पास के लोगों की भीड़ जुट गई। ग्रामीणों ने तत्काल नरायनपुर पुलिस को सूचना दी। सूचना पर जीआरपी व नरायनपुर पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने दोनों घायल बच्चों की हालत गंभीर देख वाराणसी ट्रामा सेंटर भेजवा दिया। यहां मोनू ने भी दम तोड़ दिया। जबकि सुषमा का उपचार चल रहा है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना की जानकारी होते ही मृतका के अन्य दो पुत्र पहुंच गए। इस संदर्भ में अदलहाट थानाध्यक्ष अभय सिंह ने बताया कि ट्रेन के आगे लेटकर उसने आत्महत्या किया है। हादसे में पुत्री जख्मी हो गई। उसका वाराणसी में उपचार चल रहा है। जबकि मां व बेटे दोनों की मौत हो गई है। महिला ने किस कारण ऐसा कदम उठाया? इसका पता लगाया जा रहा है।

संबंधित खबरें