Improving the deteriorating nature of society by considering duty - कर्तव्य समझकर समाज के बिगड़ते स्वरूप को सुधारें DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्तव्य समझकर समाज के बिगड़ते स्वरूप को सुधारें

विंध्याचल  के अष्टभुजा पहाड़ पर स्थित बिड़ला गेस्ट हाउस में रविवार को धाम में विश्वगुरु शंकराचार्य दसनाम गोस्वामी समाज की राष्ट्रीय बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि समाज के लोग प्रत्येक बच्चों को शिक्षा दीक्षा एवं उच्च स्तरीय ज्ञान दिलाएं। कर्तव्य समझकर समाज के बिगड़ते स्वरूप को जोड़ने का काम करते हुए व समाज के प्रति जागरुक रहे। समाज के लागों को दसनाम के प्रति जागरूक होना भी जरूरी है।

मुख्य अतिथि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री शंकर गिरी ने कहा कि जागरूक व्यक्ति ही खुद को की तरक्की कर समाज का निर्माण कर सकता है। कहाकि समाज को एकजुट होना चाहिए।  राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोरंजन गिरि ने कहा कि समाज के उत्थान व  देश की रक्षा के लिए गोस्वामी समाज को आगे आना है।  समाज के कार्यक्रमों में हर समय बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना कर्तव्य है। इस अवसर पर महिला प्रकोष्ठ भाजपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सीमा गिरी, संयोजक प्रकाश चंद पुरी, राष्ट्रीय उपाध्याय संतोष गिरी, हरि बिन्द, पंडा समाज के पूर्व कोषाध्यक्ष तेजन गिरी, कमलेश गिरि, ओम शंकर गिरी आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Improving the deteriorating nature of society by considering duty