DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मिर्जापुर  ›  ब्लैक राइस एवं टमाटर को मिले वैश्विक पहचान : मण्डलायुक्त

मिर्जापुर ब्लैक राइस एवं टमाटर को मिले वैश्विक पहचान : मण्डलायुक्त

हिन्दुस्तान टीम,मिर्जापुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:10 AM

ब्लैक राइस एवं टमाटर को मिले वैश्विक पहचान : मण्डलायुक्त

मिर्जापुर। संवाददाता

कृषि विभाग की ओर से राज्य स्तरीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी 2021 का वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से प्रसारण सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी में किया गया। कृषि निदेशक ने गोष्ठी की शुरूआत में पांच संकल्प हरी खाद की व्यवस्था, छोटे जोत को बढ़ाना, पानी को संचित करना, भूमि का सुधार व जैविक खेती पर बल दिया। इन आधारभूत आयामों पर खरीफ उत्पादकता आधारित होगी।

बीज एवं खाद उर्वरक की समीक्षा करते हुए यूरिया या डीएपी की उपलब्धतता एवं मूल्य विगत वर्ष का ही रहेगा। इसमें कोई वृद्धि नहीं की गयी है। कृषि उत्पादन आयुक्त ने बताया कि इस वर्ष कोरोना कर्फ्यू में भी कृषि एवं कृषि यंत्र सम्बन्धित सभी दुकानों को खोलने का निर्देश दिया गया था ताकि किसानों को कृषि कार्य करने मे कोई असुविधा न हो। परिणाम यह हुआ कि इस वर्ष अत्यधिक खाद्यान उत्पादकता के कारण उत्तर प्रदेश को कृषि कर्मठ पुरस्कार प्राप्त हुआ है।

पशुपालन विभाग की समीक्षा में चारे के रूप में ज्वार एवं लोबिया पर बल दिया और ज्वार का दर 3900 रूपये प्रति क्विटल निर्धारित किए। पशुओं में गलाघोटू रोग के रोकथाम के लिए टीके की उपलब्धता पर बल दिया गया। निदेशक उद्यान विभाग ने बताया कि नवीन फल जिसमे ड्रैगन फ्रुट, स्ट्रावेरी तथा परम्परागत या स्थानीय फल जैस बेल, आवला, कटहल दोनों प्रकार की फसलों के पैदावार पर ध्यान दिया गया है। सब्जी की उत्पादकता को बढ़ाने के लिए किसानों को 20 हजार रूपये प्रति हेक्टेयर का अनुदान दिया जा रहा है। गोष्ठी के समापन में कृषि मंत्री ने कृषि ज्ञान मंजूसा नामक पुस्तक का विमोचन किया। वीडियो कांफ्रेसिंग को राज्य मंत्री कृषि, अपर मुख्य सचिव कृषि, मुख्य अभियन्ता सिचाई विभाग, अपर कृषि निर्देशक ने सम्बोधित किया। इस दौरान डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार, उप निदेशक कृषि, पशु चिकित्साधिकारी, मत्स्य विभाग, उद्यान विभाग, विद्युत विभाग, सिचाई विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

संबंधित खबरें