DA Image
21 अप्रैल, 2021|11:05|IST

अगली स्टोरी

मिर्जापुर में आग से पटेहरा में पांच किमी तक जंगल खाक, घटों बाद भी आग पर नहीं पाया गया काबू

मिर्जापुर में आग से पटेहरा में पांच किमी तक जंगल खाक, घटों बाद भी आग पर नहीं पाया गया काबू

1 / 3मड़िहान थाना क्षेत्र के पटेहरा जंगल में शुक्रवार को सुबह ग्यारह बजे संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। कुछ ही देर में लगभग पांच किमी क्षेत्रफल में...

मिर्जापुर में आग से पटेहरा में पांच किमी तक जंगल खाक, घटों बाद भी आग पर नहीं पाया गया काबू

2 / 3मड़िहान थाना क्षेत्र के पटेहरा जंगल में शुक्रवार को सुबह ग्यारह बजे संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। कुछ ही देर में लगभग पांच किमी क्षेत्रफल में...

मिर्जापुर में आग से पटेहरा में पांच किमी तक जंगल खाक, घटों बाद भी आग पर नहीं पाया गया काबू

3 / 3मड़िहान थाना क्षेत्र के पटेहरा जंगल में शुक्रवार को सुबह ग्यारह बजे संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। कुछ ही देर में लगभग पांच किमी क्षेत्रफल में...

PreviousNext

मिर्जापुर। निज संवाददाता

मड़िहान थाना क्षेत्र के पटेहरा जंगल में शुक्रवार को सुबह ग्यारह बजे संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। कुछ ही देर में लगभग पांच किमी क्षेत्रफल में आग की लपटें उठ रही हैं। इसकी जानकारी होते ही मड़िहान पुलिस ने फायर ब्रिगेड को सूचना दे दी, लेकिन तब तक जंगल में काफी दूर तक फैल चुकी थी। जंगल में आग की खबर लगते ही एडीएम यूपी सिंह, एसडीएम मड़िहान रोशनी यादव, एएसपी नक्सल महेश अत्री, उप प्रभागीय वनाधिकारी पीके शुक्ला समेत वन विभाग के अन्य अधिकारी पहुंच गए। शुक्रवार देर रात तक जंगल में लगी आग पर काबू नहीं पाया जा सका था। उधर जंगल से सटे बस्ती को भी खाली करा दिया गया है। आग बुझाने के लिए आठ फायर ब्रिगेड वाहन व गड्ढा खोदने के लिए जेसीबी लगायी गई है। इसके अलावा आग बुझाने के लिए वाराणसी एनडीआरएफ टीम को बुलाया गया है। वन विभाग के अफसरों का कहना है कि किसी चरवाहे के जलती बीड़ी जंगल में फेंक दी होगी। उसी से आग लग गई होगी। फिलहाल जंगल में आग कैसे लगी? इसका पता नहीं चल सका है।

मड़िहान तहसील क्षेत्र के पटेहरा जंगल में सुबह लगभग ग्यारह बजे संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। जंगल में आग देख स्थानीय लोगों ने मड़िहान पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने फायर ब्रिगेड को सूचना दी। सूचना पर पहुंचे दमकलकर्मी आग बुझाने में जुट गए हैं, लेकिन आग पर काबू नहीं पा सके हैं। हवा के चलते आग जंगल में करीब पांच किमी दूर तक फैल गई। आग सड़क के दोनों ओर जंगल तक पहुंच गई। आग से जंगल के कीमती पेड़ जल गए। जंगल में आग की सूचना मिलते ही एडीएम, एसडीएम, एएसपी नक्सल समेत अन्य अधिकारी पहुंच गए। अधिकारियों की सूचना पर जिले के अलावा सोनभद्र से दो व भदोही से एक फायर ब्रिगेड के वाहन मंगवाया गया है। फायर ब्रिगेड के आठ वाहनों से दमकल कर्मी आग बुझाने में जुटे हुए हैं। एडीएम ने बताया कि आग पर काबू पा लिया जाएगा। वाराणसी से एनडीआरएफ की 35 सदस्यीय टीम भी मौके पर पहुंच गई है।

सड़क के दोनों ओर जंगल में आग से आवागमन रहा बाधित

मड़िहान तहसील के पटेहरा जंगल में सड़क के दोनों ओर भीषण आग लगने के बाद दमकलकर्मी बुझाने में जुटे थे। जिसके चलते मार्ग पर घंटों आवागमन बाधित रहा। पुलिस ने भी कुछ देर तक मार्ग पर आवागमन बंद करा दिया था। एक एक कर वाहनों को गुजारा जा रहा था। सड़क पर दमकलकर्मी जंगल में आग बुझाने के लिए पाइप को दौड़ा रहे थे।

आग बुझाने वाराणसी से एनडीआरएफ टीम पहुंची

पटेहरा। मड़िहान के पटेहरा जंगल में लगभग पांच किमी तक फैली आग को बुझाने में दमकलकर्मी जुटे रहे। आग पर काबू नहीं पाने पर वाराणसी से देर रात तक एनडीआरएफ की टीम भी पहुंच गई। एनडीआरएफ टीम में कुल 35 जवान को बुलाया गया है। जो जंगल में लगी आग को बुझाने का कार्य करेंगे।

आला अधिकारियों ने मड़िहान में डाला डेरा

जंगल में लगी आग पर देर रात तक काबू नहीं पाने पर आला अधिकारियों ने मड़िहान में डेरा डाल दिया है। एडीएम यूपी सिंह, एसडीएम मड़िहान रोशनी यादव, एएसपी नक्सल महेश अत्री समेत अन्य अधिकारी देर रात तक जुटे रहे। वहीं कड़ी धूप में घंटों तक मड़िहान थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह अपने हमराहियों के साथ आग बुझाने में प्रयासरत रहे।

जंगल से आग बढ़ती देख किसान हुए चिंतित

मिर्जापुर। नवेढ़िया ग्राम सभा के जंगल की ओर से दीपनगर कोटवां संपर्क मार्ग पार कर सड़क के दूसरी ओर आग फैलने से किसानों की धड़कन बढ़ गई। दर्जनों किसान अपनी हजारों बीघे खड़ी गेंहू की फसल को लेकर चिंतित सड़क किनारे खड़े हो गए। समय रहते अगर आग पर काबू नहीं पाया गया तो हजारों बीघा खड़ी गेहूं की फसल जलकर राख हो जाएगी।

मिर्जापुर के अलावा सोनभद्र व भदोही से पहुंचे दमकलकर्मी

पटेहरा। जंगल में लगी आग को बुझाने में जिले से पांच फायर ब्रिगेड वाहन पहुंची। लेकिन दमकलकर्मी आग पर काबू नहीं पा सके। आग जंगल में चारों ओर फैल चुकी थी। जिससे दमकलकर्मी आग तक नहीं पहुंच सके। ऐसे में जंगल में आग बढ़ती देख सोनभद्र से दो व भदोही जिले से एक फायर ब्रिगेड वाहन को बुलाया गया। तब जाकर कुछ हद तक आग पर काबू पाया गया।

जंगल से सटे सोनरई बस्ती को खाली कराया

जंगल में आग का विकराल रुप व फैलते देख जिला व पुलिस प्रशासन सक्रिय हो गया। प्रशासन ने आनन-फानन में जंगल से सोनरई बस्ती को खाली कराया। बस्ती में लगभग चालीस घरों के लोगों को दूर करा दिया गया। जिससे वें आग की चपेट में आ न सके। फिलहाल देर रात तक आग जंगल तक सिमट कर रह गई। जंगल में भीषण आग से सटे बस्ती के लोग भी सहमे हुए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Five kilometers of forest blaze in Patehra due to fire in Mirzapur fire was not found even after the incidents