DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मिर्जापुर › प्रभारी बीडीओ और प्रधानों के बीच विवाद समाप्त
मिर्जापुर

प्रभारी बीडीओ और प्रधानों के बीच विवाद समाप्त

हिन्दुस्तान टीम,मिर्जापुरPublished By: Newswrap
Tue, 03 Aug 2021 03:20 AM
प्रभारी बीडीओ और प्रधानों के बीच विवाद समाप्त

जिगना। हिन्दुस्तान संवाद

प्रशिक्षु एसडीएम एवं प्रभारी खंड विकास अधिकारी की पहल पर क्षेत्र के प्रधानों ने सोमवार को एक सप्ताह से चल रहे कार्य बहिष्कार के आंदोलन को समाप्त कर दिए। इसके साथ ही मंगलवार से विकास कार्य प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया। प्रभारी खंड विकास अधिकारी पर निर्वाचित प्रतिनिधियों के प्रति उपेक्षात्मक रुख अख्तियार करने तथा विकास योजनाओं की वित्तीय स्वीकृति में विलंब करने का आरोप लगाते हुए ग्राम प्रधान संघ ने आंदोलन की राह पकड़ ली थी। एक सप्ताह तक चले जद्दोजहद के बाद आखिरकार आमने-सामने हुई वार्ता के बाद संतुष्ट हुए संघ के पदाधिकारियों ने गतिरोध समाप्त करने का निर्णय लिया। इसके पूर्व प्रभारी खंड विकास अधिकारी को हटाए जाने की मांग को लेकर प्रधान संघ ने मोर्चा खोल रखा था। यहां तक कि अपनी मांगों के समर्थन मे मंडलायुक्त और जिलाधिकारी से मिलकर प्रभारी खंड विकास अधिकारी को हटाए जाने तक कार्य बहिष्कार करने की घोषणा की थी। इस दौरान छानबे क्षेत्र के 97 गांवों मे मनरेगा योजना का काम ठप हो गया था। पंजीकृत मनरेगा मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया था। वहीं प्रभारी खंड विकास अधिकारी अश्विनी कुमार सिंह ने बताया कि संघ के छः सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से वार्ता के बाद विकास की गाड़ी पटरी पर लाने की सहमति बन गई। प्रतिनिधिमंडल मे अध्यक्ष संतोष तिवारी, आनंद मोहन सिंह, विनोद कुमार यादव, गुलाम रसूल उर्फ लाला भाई, राम अवध पांडेय व शिवलखन बिंद सम्मिलित रहे।

संबंधित खबरें