DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मिर्जापुर  ›  जिला कारागार से 50 बंदी पेरोल पर किए जाएगें रिहा
मिर्जापुर

जिला कारागार से 50 बंदी पेरोल पर किए जाएगें रिहा

हिन्दुस्तान टीम,मिर्जापुरPublished By: Newswrap
Wed, 05 May 2021 10:40 PM
जिला कारागार से 50 बंदी पेरोल पर किए जाएगें रिहा

मिर्जापुर। निज संवाददाता

कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कारागार प्रशासन ने शासन के निर्देश पर कारागार में निरूद्ध 50 बंदियों को पेरोल पर रिहा करने का फैसला किया है। इन बंदियों की पत्रावली आदि तैयार करायी जा रही है। कारागार प्रशासन बुधवार को पूरे दिन गंभीर बीमारी से पीड़ित एवं अधिक उम्र के बंदियों की सूची तैयार करने में जुटा रहा। माना जा रहा है कि पत्रावली तैयार होते ही कारागार प्रशासन अदालत में प्रस्तुत कर इन बंदियों को रिहा कर देगा।

जिला कारागार में इस समय लगभग सात सौ बंदी निरूद्ध है। कारागार की बैरकों में साढ़े तीन सौ बंदी रखने की व्यवस्था है। इसके बावजूद दोगुने कैदी रखे गए है। हाल के दिनों में कोविड-19 की दूसरी लहर से कारागार के दो बंदी कोविड पाजिटिव पाए गए थे। इसी बीच शासन ने कारागार में निरूद्ध हल्के अपराध व गंभीर बीमारी से पीड़ित बंदियों को पेरोल पर रिहा करने का आदेश जारी कर दिया। यह आदेश मिलते ही कारागार प्रशासन ऐसे बंदियों की सूची बनाने में जुट गया। कारागार के जेलर व प्रभारी अधीक्षक के मुताबिक 50 बंदियों की सूची तैयार की जा रही है। पेरोल पर रिहा किए जाने वाले बंदियों में उन्हें शामिल किया गया है जिनकी उम्र 50 वर्ष से अधिक है। इनमें 50 वर्ष तक की महिला बंदी और पुरूषों के लिए आयु सीमा 65 वर्ष तय किया गया है। इसके अलावा गंभीर रूप से बीमार बंदियों को भी पेरोल पर रिहा करने का फैसला किया गया है। इनमें ब्लडप्रेसर, शुगर, कैंसर एवं हार्ट के बीमारियों से पीड़ित बंदी शामिल है।

संबंधित खबरें