DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्‍कर्ष, उमंग और स्‍नेहा ने जीत लिया मेरठ

उत्‍कर्ष, उमंग और स्‍नेहा ने जीत लिया मेरठ

आठ साल बाद ग्रेड को छोड़ नंबरों से जारी हुए सीबीएसई 10 वीं के रिजल्ट में उत्कर्ष, उमंग और स्नेहा ने मिलकर मेरठ को जीत लिया। ये तीनों ही मेधावी मेरठ में सर्वाधिक नंबरों के साथ नंबर वन रहे। तीनों ही छात्र-छात्राओं के नंबर वन रहने से तीन स्कूलों में जश्न मना। दूसरी और तीसरी रैंक भी इस वर्ष किसी एक छात्र के हाथ नहीं लगी। इन रैंक पर भी संयुक्त रूप से छात्र-छात्राओं ने अपनी मेधा और कड़े मुकाबले के बीच एक जैसे नंबर पाते हुए शानदार सफलता हासिल की। मेरठ की टॉप थ्री रैंक में कुल 12 मेधावियों ने जगह बनाई है।

मंगलवार को चार बजे रिजल्ट की घोषणा के ठीक पहले तक स्कूल और छात्र-छात्राएं परिणाम की उलटी गिनती गिन रही थी, लेकिन निर्धारित समय से तीन घंटे पहले ही सीबीएसई ने रिजल्ट जारी कर दिया। चूंकि आठ साल बाद दसवीं के रिजल्ट में बड़ा बदलाव था, ऐसे में स्कूलों से लेकर स्टूडेंट एवं परिजनों की उंगलियां इंटरनेट पर दौड़ने लगी। किसी ने मोबाइल पर रिजल्ट देखा तो किसी ने साइबर कैफों का सहारा लिया। स्कूल नंबरों की इस दौड़ में अपने को अव्वल साबित करने की दौड़ में जुट पड़े। लेकिन शाम तक जैसे ही तस्वीर साफ हुई तो पहले नंबर पर किसी एक स्कूल को टॉपर का खिताब नहीं मिला। आर्मी पब्लिक स्कूल से उत्कर्ष सिंह, दयावती मोदी एकेडमी से उमंग बालियान और ट्रांसलम एकेडमी इंटरनेशनल से स्नेहा अग्रवाल ने संयुक्त रूप से 98.8 फीसदी के साथ कुल 494 अंक पाते हुए पहला पायदान कब्जा लिया। यानी पहले नंबर पर तीन स्कूलों के तीन छात्रों ने मिलकर बाजी मारी।

दूसरे नंबर पर भी जिले के किसी एक स्कूल या छात्र को बाजी हाथ नहीं लगी। दूसरी रैंक पर भी मेरठ से तीन मेधावियों ने कब्जा जमाया है। 98.6 फीसदी यानी 493 अंक पाते हुए दयावती मोदी एकेडमी से अनुष्का, सेंट जोन्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल से झलक जैन और डीपीएम पब्लिक स्कूल बहसूमा से अभिषेक भारती ने दूसरी रैंक पाई। तीसरे पायदान पर एक, दो, तीन नहीं बल्कि छह छात्र-छात्राओं ने एकसाथ बाजी मारी है। दयावती मोदी एकेडमी से शिवांगी अहलावत, सयान्तन बेरा जबकि केएल इंटरनेशनल से खुशी अग्रवाल, मेरठ पब्लिक स्कूल से एकांक्ष दीक्षित, मेरठ पब्लिक स्कूल फॉरॅ गर्ल्स से इशिका गर्ग और मेरठ पब्लिक गर्ल्स स्कूल से नंदिनी रस्तौगी संयुक्त रूप से तृतीय स्तर पर रही हैं। इन सभी छह छात्र-छात्राओं ने 492 अंक पाए। सभी को 98.4 फीसदी अंक मिले हैं।

पहले, दूसरे और तीसरे पायदान पर किसी एक स्कूल को सफलता नहीं मिलने पर स्कूलों को थोड़ी मायूसी जरुर हुई। स्कूलों की उम्मीद थी कि आठ साल बाद फिर से नंबरों से जारी हो रहे रिजल्ट में मेरठ के मेधावी कुछ कमाल करेंगे और किसी एक स्कूल को बेहतर मुकाम मिल सकेगा, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। बावजूद इसके परिजन और छात्र-छात्रा खुश रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Uttkarsh, Umang, sneha got 1st rank cbse result in Meerut