DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मेरठ  ›  दरभंगा पार्सल ब्लास्ट में शामली से दो संदिग्ध दबोचे
मेरठ

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट में शामली से दो संदिग्ध दबोचे

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Fri, 25 Jun 2021 01:10 PM
दरभंगा पार्सल ब्लास्ट में शामली से दो संदिग्ध दबोचे

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले में उप्र की शामली पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने इस मामले में दो संदिग्धों को पकड़ा है। उनसे पूछताछ जारी है। दोनों का इस ब्लास्ट से कनेक्शन पुष्ट हुआ है। साथ ही उनका पाकिस्तान कनेक्शन भी निकला है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इस प्रकरण में शामली पुलिस से संपर्क साधा है।

बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर 17 जून को कपड़े की एक गठरी (पार्सल) में धमाका हुआ। कपड़ों के बीच केमिकल की एक शीशी रखी मिली। पार्सल भेजने वाले का नाम-पता सूफियान निवासी सिकंदराबाद (आंध्र प्रदेश) लिखा था, जबकि उस पर लिखा मोबाइल नंबर यूपी में शामली जिले के कैराना कस्बे का निकला।

शामली पुलिस ने इस प्रकरण में कैराना कस्बे के मोहल्ला बिस्तयान निवासी हाजी सलीम उर्फ टुइया और मोहल्ला आलखुर्द निवासी कासिम उर्फ कफील को पकड़ा है। दोनों से लंबी पूछताछ चल रही है। सूत्रों ने बताया कि दोनों संदिग्धों का पार्सल ब्लास्ट से कनेक्शन पाया गया है। इन दोनों का पूरे मामले में क्या रोल रहा, यह अभी पुलिस ने अधिकारिक तौर पर नहीं बताया है। सूत्रों ने बताया कि यह बात भी पुष्ट हुई है कि कपड़ों की गठरी आंध्र प्रदेश के सिकंदराबाद से ही भेजी गई थी।

कैराना थाने में पूछताछ जारी

दोनों संदिग्धों को शामली पुलिस ने थाना कैराना में रखा हुआ है, जहां उनसे पूछताछ जारी है। फिलहाल पुलिस के अलावा अन्य किसी भी सुरक्षा-खुफिया एजेंसियों को दोनों से दूर रखा गया है। पार्सल ब्लास्ट केस में यह शामली पुलिस की बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

एनआईए को जाएगी केस की जांच

सूत्रों ने बताया कि दरभंगा पार्सल ब्लास्ट की जांच एनआईए ने अपने हाथ में लेने की तैयारी शुरू कर दी है। अभी तक इसकी जांच बिहार और यूपी एटीएस कर रही थी। एनआईए के एक अधिकारी ने शामली जिला पुलिस से दोनों संदिग्धों को लेकर संपर्क साधा है। माना जा रहा है कि एनआईए की टीम एक-दो दिन में शामली आकर दोनों संदिग्धों को साथ लेकर जा सकती है।

संबंधित खबरें