DA Image
23 नवंबर, 2020|3:16|IST

अगली स्टोरी

शादी समारोह के बाद वीडियो भी देना होगा प्रशासन को

शादी समारोह के बाद वीडियो भी देना होगा प्रशासन को

मेरठ। मुख्य संवाददाता

शादी समारोह में 100 लोगों की संख्या निर्धारित करने के साथ ही अब सख्ती और बढ़ा दी गई है। अब प्रशासन की ओर से दी जा रही अनुमति में शादी समारोह का वीडियो भी उपलब्ध कराने को कहा जा रहा है ताकि निर्धारित संख्या से अधिक का मामला हुआ तो कार्रवाई भी की जा सकती है। शासन के आदेश के बाद अब प्रशासन की ओर से सख्ती की गई है।

शासन के आदेश के बाद अब प्रशासन की ओर से थाने की रिपोर्ट के आधार पर ही शादी समारोह की अनुमति दी जा रही है। एसीएम, एसडीएम की ओर से दी जा रही अनुमति में 10 शर्तों का पालन करने का आदेश तो है ही। इसके साथ ही विवाह स्थल या बारात मंडप स्वामी को वैवाहिक कार्यक्रम की अनवरत वीडियोग्राफी का भी आदेश है, जिसका सीडी संबंधित एसीएम, एसडीएम को उपलब्ध कराना अनिवार्य है। शादी समारोह की अनुमति को लेकर रविवार को ‘हिन्दुस्तान ने पड़ताल की।

‘हिन्दुस्तान की पड़ताल में सामने आया कि जिनके बेटे या बेटी की शादी है तो उन्हें संबंधित वैवाहिक स्थल या मंडप स्वामी के एसीएम, एसडीएम के कार्यालय में अनुमति के लिए आवेदन देना पड़ता है। उस आवेदन पर संबंधित थाने की रिपोर्ट ली जाती है। संबंधित थाना निरीक्षक की अनुमति की रिपोर्ट आवश्यक है। उसके बाद डीएम के 20 सितंबर के आदेश के तहत ही एसीएम, एसडीएम अनुमति देते हैं।

इस तरह की है शर्तें

विशेष शर्त

1- प्रबंधक... विवाह स्थल/बारात घर, वैवाहिक कार्यक्रम की अनवरत वीडियोग्राफी कराएंगे। कार्यक्रम के बाद वीडियोग्राफी की सीडी कार्यालय को उपलब्ध कराएंगे।

सामान्य शर्त

1- विवाह स्थल, बारात घर में किसी प्रकार का शस्त्र ले जाना वर्जित

2- समारोह के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजेशन की व्यवस्था करनी होगी

3- विवाह समारोह में प्रत्येक व्यक्ति को मास्क का प्रयोग करना होगा

4- अनुमति नियत दिनांक और समय के लिए होगी

5- विवाह समारोह में केवल 100 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति होगी

6- समारोह स्थल कंटेनमेंट जोन के बाहर होना चाहिए

7- आवेदक पर शासन के निर्देशों का उल्लंघन करने पर आपदा प्रबंधन के तहत कार्रवाई की जाएगी

8- अनुमति जारी होने के बाद संबंधित स्थान कंटेनमेंट जोन, बफर जोन घोषित होता है तो अनुमति स्वत: निरस्त हो जाएगी

9- आवेदक को धारा-144 का पालन करना होगा

10-एनजीटी के आदेश के तहत आतिशबाजी पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगी।

शासन के आदेश के तहत है व्यवस्था

शादी समारोह की अनुमति की व्यवस्था शासन के आदेश के तहत है। अनुपालन की जिम्मेदारी भी संबंधित एसीएम, एसडीएम और थानाध्यक्षों की है। कोरोना की स्थिति को देखते हुए कार्रवाई आवश्यक है

- अजय कुमार तिवारी, एडीएम सिटी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The administration will also have to provide a video after the wedding ceremony