DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मम्मी क्लास में, बच्चों के साथ पापा का कड़ा इम्तिहान

मम्मी क्लास में, बच्चों के साथ पापा का कड़ा इम्तिहान

मम्मी क्लास रूम में परीक्षा दे रही थी तो केंद्रों के बाहर पापा का बच्चों के साथ इम्तिहान था। केंद्रो के बाहर जिसे जहां जगह मिली वह अपने छोटे-छोटे बच्चों को लेकर बैठे दिखाई दिए। बच्चों को चुप कराना पापा के लिए चुनौती भर लगा रहा था। पापा बच्चों को तरह-तरह की चीज से भी बहला रहे थे।

कुछ तो मोबाइल पर बच्चों को गाना सुना रहे थे तो कोई बच्चों को गुब्बारे दिला रहे थे। बाद में पेपर छूटा तो सफर में तमाम मुश्किलें झेलनी पड़ी। ट्रेन से लेकर बसों तक में बैठने के लिए सीट तक नहीं मिली। ऐसा ही कुछ हाल देखने को मिला शहर में हुई सहायक शिक्षकों की परीक्षा में। शिक्षकों की परीक्षा के साथ-साथ अभिभावकों ने कड़ी परीक्षा दी।

रिश्तेदार के यहां तो कोई होटल में ठहरा

परीक्षा के लिए एक दिन पहले ही अभ्यर्थियों का शहर में आना शुरू हो गया था। हजारों की संख्या में पहुंचे अभ्यर्थियों को ठहरने में काफी परेशानी हुई। सर्वाधिक अभ्यर्थी दूर-दराज वाले स्थानों से आए थे। पूर्वांचल से चलकर मेरठ आए छात्र-छात्राओं को ठहरने के लिए भी बड़ी मुसीबत उठानी पड़ी। कोई रातभर अपने रिश्तेदार के यहां रूका तो कोई होटल में ठहरा।

परीक्षा केंद्रों के बाहर लगे चाट-पकौड़ी के ठेले

परीक्षा केंद्रों के बाहर चाट-पकौड़ी के ठेले पर खूब भीड़ दिखाई दी। अभिभावकों ने चाट-पकौड़ी का भी लुत्फ उठाया। वहीं पार्क और कॉम्प्लेक्स में लंच करते नजर आए।

गर्मी में एटीएम बने सहारा

गर्मी में बच्चे परेशान हो रहे थे। पार्क और केंद्र के पास पेड़ की छांव में अभिभावक अखबार, कपड़े और पंखें से हवा करते हुए दिखाई दिए। जब बच्चे गर्मी में चुप नहीं हुए तो कुछ अभिभावक एटीएम की ओर चल पड़े। गढ़ रोड, वेस्टर्न कचहरी रोड पर एटीएम के अंदर बच्चों को लेकर अभिभावक बैठे, तब जाकर गर्मी से राहत मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:teacher exam in meerut