DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मेरठ  ›  बीए में छात्र पढ़ेंगे आयुर्वेद और कर्मकांड

मेरठबीए में छात्र पढ़ेंगे आयुर्वेद और कर्मकांड

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:00 AM
बीए में छात्र पढ़ेंगे आयुर्वेद और कर्मकांड

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

चौधरी चरण सिंह विवि से संबद्ध कॉलेजों में बीए संस्कृत में छात्र-छात्राएं नए सत्र से आयुर्वेद और कर्मकांड पढ़ेंगे। विवि चरक, सुश्रुत, बाग्भट्ट, माधव और सारंगधर भाव मिश्र जैसे आयुर्वेद के विद्वानों के जरिए आयुर्वेद को समझाएगा। ज्योतिष और कर्मकांड के साथ योग भी पढ़ने को मिलेगा। माइनर पेपर में शामिल कुल चार प्रश्नपत्र किसी भी फेकल्टी के स्टूडेंट पढ़ सकेंगे। वास्तु शास्त्र को भी कोर्स में जगह दी गई है। सोमवार को डीन आर्ट्स प्रो. एनसी लोहनी और कन्वीनर द्वितीय डॉ.संगीता अग्रवाल के निर्देशन में हुई बोर्ड ऑफ स्टडीज (बीओएस) में उक्त निर्णय हुए।

संस्कृत के तीन स्थानीय विद्वान कोर्स में

मेरठ। समन्वयक संस्कृत विभाग डॉ. वाचस्पति मिश्र के अनुसार विल्लवेश्रर महाविद्यालय के प्राचार्य रहे प्रभुदत्त स्वामी, एनएएस में शिक्षक रहे गणेश दत्त शर्मा और रमाकांत शुक्ला को कोर्स में रखा गया है। ये सभी संस्कृत के विद्वान थे और संस्कृत काव्य एवं नाटक लिखे।

योग से आयुर्वेद तक ये चार पेपर पढ़ेंगे

मेरठ। डॉ. वाचस्पति मिश्र के अनुसार योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा, आयुर्वेद एवं स्वास्थ्य विज्ञान, भारतीय वास्तु शास्त्र, ज्योतिष शास्त्र के मूलभूत सिद्धांत और नित्य नैमित्तिक अनुष्ठान सहित कुल चार पेपर जोड़े गए हैं। ये सभी अलग-अलग पेपर होंगे। संस्कृत के साथ-साथ स्नातक स्तर पर किसी भी फेकल्टी का छात्र इनको पढ़ सकेगा। वास्तु शास्त्र में राजा टोडरमल द्वारा लिखित पुस्तक वास्तु सोख्यम पढ़ाई जाएगी। ज्योतिष में ज्योतिष चंद्रिका पढ़ने को मिलेगी। छात्रों को अनुष्ठान में रुद्राभिषेक, नवचंडी विधान और नवग्रह स्थापना सिखाई जाएगी।

संबंधित खबरें