DA Image
18 जनवरी, 2021|11:09|IST

अगली स्टोरी

छात्रों ने बनाई बैट्री से चलने वाली गार्बेज ई-रिक्शा

छात्रों ने बनाई बैट्री से चलने वाली गार्बेज ई-रिक्शा

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

सुभारती इंजीनियरिंग कॉलेज के मैकेनिकल इंजीनियर अजहरुद्दीन के साथ छात्रों ने मिलकर बैट्री से चलने वाली गार्बेज ई-रिक्शा बनाई है। पर्यावरण को दूषित किए बना यह ई-रिक्शा पूरे विवि कैंपस से कूड़ा एकत्र करेगा।

शहीद अशफ़ाक़उल्लाह खान खण्ड के बाहर कुलपति ब्रिगेडियर डॉ.वीपी सिंह ने हरी झंडी दिखाकर ई-रिक्शा को रवाना किया। प्राचार्य डॉ. मनोज कपिल एवं मैकेनिकल इंजीनियर अजहरूद्दीन ने कहा कि बैट्री संचालित ई-रिक्शा से पेट्रोल एवं डीजल के वाहनों का प्रयोग कम होगा। इससे प्रदूषण को रोकने में मदद भी मिलेगी। विवि प्रकृति के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है। प्राचार्य ने कहा कि गार्बेज ई-रिक्शा में चार सौ किलो की लोडिंग क्षमता है और एक बार चार्ज होने के बाद 80 किमी तक चलती है। इसे चार्ज करने के लिए मात्र पांच यूनिट बिजली चाहिए। मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. शल्या राज ने कहा कि प्रकृति को संरक्षित करने की दिशा में यह बहुत अहम कदम है। पेट्रोल एवं डीजल वाहनों से निरंतर प्रदूषण बढ़ रहा है। प्रतिकुलपति डॉ. विजय वधावन, परिवहन प्रबंधक राजकुमार सागर एवं इसरार मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Students made a garbage e-rickshaw powered by batteries