DA Image
26 अक्तूबर, 2020|4:38|IST

अगली स्टोरी

कताई मिल : कर्मचारियों के 356 करोड़ बकाए की मांग ने जोर पकड़ा

default image

परतापुर। संवाददाता

पिछले 20 साल से बंद कताई मिल परिसर को उद्योगपुरम में तब्दील करने की पहल होते ही कताई मिल की एक्स एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने यूपीएसआईडीसी से राज्य वस्त्र निगम कताई मिल परतापुर के कर्मचारियों का बकाया 356 करोड़ की मांग उठानी शुरू कर दी है।

रविवार को एक्स एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन अध्यक्ष नैपाल सिंह ने पत्रकारों से वार्ता में कहा कि 1977 में राज्य वस्त्र निगम कताई मिल, कांग्रेस सरकार ने बेरोजगारी दूर करने के लिए शुरू की थी। इसमें लगभग तीन हजार कर्मचारी थे। वर्ष 2000 में मिल को बंद कर दिया गया। मिल बंद होते ही तीन हजार कर्मचारी बेरोजगार हो गए। कुछ को वीआरएस दे दिया गया। कताई मिल बंद होने के बाद वेलफेयर एसोसिएशन ने यूपीएसआईडीसी से करोड़ों रुपया बकाया की मांग की थी। लेकिन किसी कर्मचारी को पैसा नहीं मिला तो कमिश्नर, डीएम से शिकायत के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराया गया। आदेश हुए पर पैसा नहीं मिला तो एसोसिएशन ने मामला हाईकोर्ट इलाहाबाद में डाल दिया। नैपाल सिंह ने बताया कि कानपुर यूपीएसआईडीसी को पेमेंट के लिए लिखा गया है, कोर्ट का फेसला भी ऑनलाइन आने वाला है। अध्यक्ष नैपाल सिंह ने कहा कि कर्मचारियों का पेमेंट नहीं मिला तो आंदोलन किया जाएगा। इस समय 400 कर्मचारी रह गए हैं। इस मौके पर एसोसिएशन उपाध्यक्ष निजामुद्दीन, संगठन मंत्री शकील अहमद मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Spinning mill Demand for 356 crore dues of employees caught up