DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पशुओं की खरीद-बिक्री पर रोक के विरोध में उतरेंगे सपाई

पशुओं की खरीद-फरोख्त पर रोक और कानून व्यवस्था को सपा, भाजपा सरकार को घेरने के लिए मुद्दा बनाएगी। शनिवार को होने वाली मासिक मीटिंग के एजेंडे में यह दो बिंदु प्रमुख रूप से रखे गए हैं। आंदोलन की रणनीति क्या हो और कैसे बात रखी जाए इन सब बिंदुओं पर इस मीटिंग में चर्चा होगी। सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह ने बताया कि जब से पशुओं की खरीद-फरोख्त पर रोक लगाई गई है किसानों, पशुपालकों और दुग्ध उत्पादकों के सामने संकट की स्थिति बन गई है। उन्होंने कहा कि जिले भर में लगने वाले पशुओं के खरीद-बिक्री बाजार (पैंठ) में 85 प्रतिशत से भी अधिक गिरावट आ गयी है। जिले में पशुओं की खरीद-बिक्री की सबसे बड़ी पैंठ सरधना तहसील के मढीयाई ग्राम में लगती है जो प्रति सप्ताह मंगलवार-बुधवार को आयोजित होती है। सैकड़ों वर्षों से इस पैंठ में भारी तादात में पशु बिकते व खरीदे जाते हैं जिनकी संख्या 3000 से भी उपर होती है अब यह सख्या घटकर 500-600 तक रह गयी है तथा पशु बाजार (पैंठ) पशुओं से खाली है। किसानों, पशुपालकों, पशु व्यापारियों में दहशत है कि अपने पशुओं को भी एक जगह से दूसरी जगह लाने-ले जाने में पुलिस उनका उत्पीड़न करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sp will make issue crime