DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरधना में दूसरे दिन भी गिरे कई मकान, लाखों का नुकसान

सरधना में दूसरे दिन भी गिरे कई मकान, लाखों का नुकसान

बारिश रुकने के बाद सरधना क्षेत्र में मकान गिरने का सिलसिला दूसरे दिन भी जारी रहा। मंढियाई, अलीपुर, अटेरना व मोहल्ला इस्लामाबाद में रविवार अल सुबह कई मकान गिर गए। जिनकी चपेट में आकर कई लोग घायल हो गए। जबकि मकान के मलबे में दबकर लाखों रुपये का नुकसान हुआ। मकान गिरने का पता चलते ही तहसील टीम जांच पड़ताल करने मौके पर पहुंची। टीम ने नुकसान का ब्यौरा नोट किया और पीड़ितो को मुआवजे का आश्वासन दिया।

बतादें कि मंढियाई गांव में इकबाल पुत्र यासीन का मकान भरभराकर गिर गया। जो मकान गिरा उसके अंदर इकबाल का पुत्र गुलजार व उसके बच्चे रहते थे। तीन दिन लगातार हुई बारिश के बाद उसका कच्चा मकान पूरी तरह से सील गया था। रविवार अल सुबह तेज धूप निकली तो उसका मकान भरभराकर गिर गया। घटना से कुछ ही मिनट पहले गुलजार व उसके बच्चे हादसो की आशंका को भांपते हुए बाहर गए थे। यदि वह अंदर होते तो बड़ा हादसा हो सकता था। उधर, मकान के मलबे में दबकर उसकी बाइक व अन्य कीमती सामान क्षतिग्रस्त हो गया। दूसरी घटना अलीपुर गांव में हुई। यहां इरशाद पुत्र शमशाद का मकान है। यह मकान भी धूप निकलते के कुछ ही देर बाद भरभराकर गिर गया। जिसकी चपेट में आकर इरशाद को चोट लगी। जबकि परिवार के सदस्यों ने बाहर भागकर अपनी जान बचाई। इरशाद के मकान में रखा सामान भी क्षतिग्रस्त हो गया। तीसरी घटना अटेरना गांव में हुई। यहां रविंद्र पुत्र हरवीर का मकान गिरा। यहां भी गनीमत रही कि जिस समय मकान की छत गिरी उस समय परिवार के सभी सदस्य बाहर थे। रविंद्र के अनुसार उसके मकान की छत कच्ची थी, जोकि बारिश के बाद टपक रही थी। चौथी घटना मोहल्ला इस्लामाबाद में हुई। यहां राशिद पुत्र इस्लाम के मकान की बाहरी हिस्से की दीवार गिर गई। दीवार के मलबे की चपेट में आकर आवारा पशु घायल हो गए। इसी मोहल्ले में एक मदरसे की दीवार भी गिरी। जिसकी चपेट में आने से मदरसे के छात्र बाल-बाल बच गए। घटना की सूचना मिलते ही तहसील से एक टीम सभी घटना स्थलों पर निरीक्षण करने पहुंची। टीम ने अपनी रिपोर्ट तैयार की और उसी के आधार पर मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sardhana news