DA Image
4 दिसंबर, 2020|1:00|IST

अगली स्टोरी

बीएड फाइनल में रुकेगा हजारों छात्रों का रिजल्ट

बीएड फाइनल में रुकेगा हजारों छात्रों का रिजल्ट

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

चौ. चरण सिंह विवि द्वारा जल्द प्रैक्टिकल कराने के बावजूद कॉलेजों की लापरवाही छात्रों पर भारी पड़ने जा रही है। माइग्रेशन और अर्हता परीक्षा के पेपर से दस हजार से अधिक छात्र-छात्राओं का रिजल्ट जारी नहीं हो सकेगा। डिटेंड श्रेणी में रिजल्ट होने से छात्र कैंपस में दौड़ लगाएंगे। यानी रिजल्ट के बाद विवि कैंपस में छात्रों की भीड़ बढ़ सकती है। विवि नवंबर के आखिरी तक बीएड फाइनल का रिजल्ट जारी करेगा।

इसलिए आएगी यह दिक्कत

बीएड में उत्तर प्रदेश के विभिन्न विवि और अन्य राज्य के विवि से पासआउट छात्र प्रवेश लेते हैं। काउंसिलिंग के बाद रिपोर्टिंग कॉलेज में होती है। सीधे प्रवेश भी कॉलेज करते हैं। नियमानुसार कॉलेज को अन्य विवि या अन्य राज्य के स्टूडेंट से माइग्रेशन प्रवेश के वक्त लेना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हो पाता। छात्र तत्काल जमा नहीं करा पाते और फिर दो साल ऐसे ही निकल जाते हैं। विवि समस्त छात्रों को प्रोविजनल पंजीकरण नंबर दे देता है। फाइनल में जब रिजल्ट आता है तो विवि इन्हें डिटेंड कर देता है। कुछ मामलों में कॉलेज माइग्रेशन विवि में जमा करा देते हैं, लेकिन नहीं मिलता। ऐसी स्थिति में रिजल्ट रुकता है। इसके बाद छात्रों को कैंपस आकर प्रक्रिया पूरी करनी पड़ती है।

आवेदन निरस्त होते ही घटा विवि पर दबाव

टीजीटी-पीजीटी का विज्ञापन निरस्त होने से विश्वविद्यालय को बड़ी राहत मिली है। 27 नवंबर आवेदन की अंतिम तिथि होने से विवि पर इससे पहले बीएड फाइनल का रिजल्ट जारी करने का दबाव था। इसके लिए ही विवि ने जल्दी प्रैक्टिकल कराए जो आज निपट जाएंगे। विवि ने इस बार न्यूनतम समय में मूल्यांकन भी करा दिया। विवि अगले हफ्ते तक न्यूनतम 150 कॉलेजों में बीएड फाइनल का रिजल्ट भी जारी करने जा रहा है। चूंकि टीजीटी में आवेदन प्रक्रिया बंद हो गई है, इससे विवि अब आराम से रिजल्ट जारी कर सकेगा। विवि के अनुसार दोबारा विज्ञापन की अंतिम तिथि से पहले बीएड फाइनल का समस्त रिजल्ट आ जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Results of thousands of students will stop in BEd final