ranji trophy match in meerut - रणजी ट्रॉफी: यूपी टीम पहुंची शहर, आज से करेगी अभ्यास DA Image
15 दिसंबर, 2019|2:51|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रणजी ट्रॉफी: यूपी टीम पहुंची शहर, आज से करेगी अभ्यास

रणजी ट्रॉफी: यूपी टीम पहुंची शहर, आज से करेगी अभ्यास

भामाशाह पार्क के मैदान पर रणजी मैच देखने के लिए क्रिकेट प्रेमियों का इंतजार खत्म होने वाला है। इसके लिए बुधवार को यूपी की टीम मेरठ पहुंच गई है। टीम को होटल क्रिस्टल पैलेस में ठहराया गया। टीम के खिलाड़ी आज सुबह से अभ्यास शुरू कर देंगे।

भामाशाह पार्क के मैदान पर नौ से 13 दिसंबर तक इस सीजन का पहला रणजी मैच यूपी और रेलवे की टीम के बीच खेला जाएगा। इसके लिए मेरठ डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। इसमें बांस की छत के अलावा रंगाई-पुताई का कार्य तेजी पर है। मैदान से कंकड़, पत्थर आदि को बाहर किया जा रहा है। यह काम एक या दो दिन में पूरा होने का दावा किया गया है। बुधवार शाम करीब छह बजे टीम मैनेजर संजीव जखमोला के साथ टीम पहुंच गई है। इसमें 15 सदस्यीय टीम के अलावा अन्य लोगों को मिलाकर कुल 22 लोगों को होटल क्रिस्टल पैलेस में ठहराया गया है। मैच खत्म होने तक टीम के इसी होटल में रुकने का प्रबंध किया गया है। टीम कप्तान अंकित राजपूत और ब्रजनाथ समेत अन्य खिलाड़ी शामिल हैं। शहर में पहुंचने वाले खिलाड़ी भामाशाह पार्क के मैदान पर अभ्यास शुरू कर देंगे। छह दिसंबर को रेलवे की टीम पहुंच सकती है। इस टीम के रुकने का प्रबंध होटल कंट्री इन में है। मेरठ डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष राकेश गोयल ने बताया कि अभी टीम की अधिकारिक घोषणा की जानी बाकी है। टीम में फेरबदल भी किया जा सकता है।

-------------------------

प्रियम के स्थान पर अंकित राजपूत करेंगे कप्तानी

शहर के होनहार क्रिकेटर प्रियम गर्ग को अंडर-19 विश्वकप का कप्तान बनाया गया है। यूपी क्रिकेट एसोसिएशन के हवाले से जानकारी दी गई कि विश्व कप में जाने से पहले प्रियम छह और सात दिसंबर को बंगलुरू में आयोजित कैंप में हिस्सा लेगा। इसके बाद अन्य व्यवस्थाओं में समय लगेगा। 14 या 15 दिसंबर को दक्षिण अफ्रीक में वर्ल्ड कप खेलने के लिए रवाना हो जाएगा। इसलिए प्रियम गर्ग के स्थान पर अंकित राजपूत को यूपी की टीम की बागडोर दी गई है। साथ ही ब्रजनाथ को उपकप्तान बनाया जा सकता है। हालांकि अभी इसकी अधिकारिक घोषणा होना बाकी है।

-------------------------

बल्लेबाजों की एशगाह है पिच

पिच के जानकारों की मानें तो भामाशाह पार्क की क्रिकेट पिच बल्लेबाजों के लिए मददगार मानी जाती है। इसलिए पहले हुए मैचों में बल्लेबाज रन बटोरने में कामयाब होते रहे हैं। हार-जीत का फैसला भी बल्लेबाजी के दम पर होता आया है। साथ ही यह पिच सुबह करीब एक घंटे के खेल के दौरान गेंदबाजों की मददगार बनती है। नमी के कारण गेंद अधिक स्विंग होकर बल्लेबाजों को परेशान करती है। यानि इस घंटे भर तक क्रीज पर टिक पाने वाले बल्लेबाज विपक्षियों के लिए मुश्किल बन जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ranji trophy match in meerut