DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मेरठ › पायलट की शहादत पर शोक में डूबा पुसार गांव
मेरठ

पायलट की शहादत पर शोक में डूबा पुसार गांव

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Sat, 22 May 2021 03:54 AM
पायलट की शहादत पर शोक में डूबा पुसार गांव

बड़ौत/दाहा। हिन्दुस्तान टीम

स्क्वाड्रन लीडर अभिनव चौधरी बागपत जिले में पुसार गांव के मूल निवासी थे। उनकी शहादत की खबर मिलते ही पूरा गांव शोक में डूब गया। पूरा गांव अब अपने लाल के अंतिम दर्शन का इंतजार कर रहा है।

अभिनव चौधरी का परिवार करीब 20 वर्ष से मेरठ के गंगानगर में रह रहा है। अभिनव की राजस्थान के सूरतगढ़ में पोस्टिंग थी। अभिनव के ताऊ सूबे सिंह ने बताया परिवार में वह सबसे बड़े हैं। उनसे छोटे सतेंद्र व गुड्डू हैं। सतेंद्र करीब 20 वर्ष से गंगानगर मेरठ में रह रहे हैं। सतेंद्र के परिवार में पत्नी सत्या, बेटी मुद्रिका व अभिनव की पत्नी सोनिका हैं। सोनिका और अभिनव सूरतगढ़ में ही रहते थे। गांव में अभिनव की शहादत की खबर शुक्रवार सुबह आई तो पूरा परिवार शोक में डूब गया। पुसार से भी परिजन मेरठ पहुंच गए हैं।

पायलट की पत्नी स्कूल टॉपर

राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय सचिव एवं पूर्व राज्यमंत्री कुलदीप उज्ज्वल ने बताया कि सोनिका उज्ज्वल उनकी भतीजी हैं। वह बागपत की टॉपर छात्रा रही हैं। उन्होंने हाईस्कूल व इंटर में नवोदय विद्यालय से जिला टॉप किया था। 25 दिसंबर 2019 को अभिनव की शादी धूमधाम से मेरठ में हुई थी। वायु सेना में फायटर पायलट और किसान के पुत्र अभिनव ने एक रुपये में लगन सगाई कर दहेज लोभियों को करारा तमाचा जड़ा था।

गांव में होगा अंतिम संस्कार

दाहा। अभिनव के ताऊ सूबे सिंह ने बताया कि अभिनव का गांव में ही अंतिम संस्कार किया जाएगा।

---------------

शहीद के पिता बोले- मिग-21 बंद कर नए विमान दिए जाएं

- सांसद ने भी कहा- मिग-21 में पुरानी तकनीक, सरकार से बात करेंगे

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता

पंजाब में मिग-21 विमान हादसे में स्क्वाड्रन लीडर अभिनव चौधरी की शहादत के बाद उनके पिता सतेंद्र चौधरी बेहद आहत हैं। उनका कहना है कि हमारा लाल तो चला गया। आगे और किसी का लाल न जाए, इसके लिए सरकार को मिग-21 बंद कर नए विमान देने चाहिए। उन्होंने कहा कि वायुसेना में नए लड़के भर्ती हो रहे हैं, लेकिन उन्हें पुराने जहाज दिए जा रहे हैं। अब उन्हें अत्याधुनिक तकनीक से लैस जहाजों की जरूरत है।

अभिनव के तहेरे भाई डॉ. अरुण ने मिग-21 को 'उड़ता ताबूत' बताते हुए कहा कि जुगाड़ कर इसको बाइसन बना दिया गया है, लेकिन इसमें टैक्नोलॉजी बेहद पुरानी चली आ रही है। पिछले साल कई विमान हादसे हुए हैं। उन्होंने नए विमानों की जरूरत बताई। शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे मेरठ सांसद राजेंद्र अग्रवाल के समक्ष भी परिजनों ने यह मुद्दा उठाया। सांसद ने माना कि मिग-21 में 40-50 साल पुरानी तकनीक है। उन्होंने कहा कि इस विमान को बंद कर नए विमान देने के लिए वह केंद्र सरकार से बात करेंगे।

---------------

शोक संदेश

ईश्वर अभिनव चौधरी के परिवार को दुख की घड़ी में कष्ट सहने का साहस दे। पूरा देश उनके देशसेवा के जज्बे को नमन करता है।

- प्रियंका गांधी

..........

ईश्वर उनकी आत्मा को शांति व शोकाकुल परिजनों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करे।

- अखिलेश यादव

............

घर पहुंचे कांग्रेसी

कांग्रेस नेताओं ने अभिनव चौधरी के पिता सतेंद्र से मिलकर उन्हें सांत्वना दी। इस दौरान महानगर अध्यक्ष जाहिद अंसारी, महानगर प्रवक्ता अखिल कौशिक, एआईसीसी सदस्य युगांश राणा मौजूद रहे।

...................

21 बाग 51 अभिनव चौधरी फाइल फोटो।

21 बाग 52 शुक्रवार को पुसार में गमगीन अभिनव के परिवार के सदस्य।

संबंधित खबरें