DA Image
17 जनवरी, 2021|8:18|IST

अगली स्टोरी

पलायन के पोस्टर उतरवाने को मानमनोव्वल में जुटी पुलिस

default image

मवीमीरा गांव में 20 रुपये के विवाद में दो पक्षों की मारपीट का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। एक पक्ष के लोगों ने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगाते हुए गांव से पलायन के पोस्टर अपने घरों पर चस्पा कर दिए थे। इसके चलते शासन-प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस पीड़ित पक्ष से तहरीर देने या पोस्टर उतरवाने को मानमनोव्वल में जुटी है, जबकि पीड़ित कोर्ट जाने की तैयारी में जुटा है।

बताते चलें कि गांव निवासी नौसेर की दुकान से 20 रुपये की उधार सिगरेट खरीदने और तकादा करने पर गांव निवासी सुंदर व तय्यब के बीच हुई मारपीट का मामला तूल पकड़ रहा है। तय्यब पक्ष के लोगों का कहना है कि सुंदर ने अपने साथियों के साथ मिलकर उनके घरों पर पथराव करते हुए हथियारो से फायरिंग की है और पूरा घटनाक्रम सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। पीडित पक्ष के आरिफ आदि का कहना है कि शिकायत करने के बाद भी पुलिस मामले में कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है और उन पर फैसले का दबाव बना रही है। इससे क्षुब्ध होकर तय्यब पक्ष के 40 परिवारों ने अपने घरों पर मकान बिक्री व पलायन के पोस्टर चस्पा कर सनसनी फैला दी। मामला सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद शासन-प्रशासन भी हरकत में आया और पीड़ित पक्ष से मिलने पहुंची। पुलिस ने उनसे पोस्टर उतारने के साथ मामले की तहरीर देने के लिए कहा लेकिन पीड़ित पक्ष घटना के समय दी तहरीर पर ही कार्रवाई करने की बात कर रहा है और कार्रवाई होने के बाद ही पोस्टर उतारने की जिद पर अड़ा है। गुरुवार को पीड़ित पक्ष के आरिफ ने बताया कि यदि पुलिस मामले में कोई कार्रवाई नहीं करती है तो वह कोर्ट जाएंगे और न्याय की गुहार लगाएंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Police in Manmanovl to remove posters of escape