DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मेरठ › पंचायत ने मौत की कीमत लगाई दो लाख रुपये
मेरठ

पंचायत ने मौत की कीमत लगाई दो लाख रुपये

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Mon, 02 Aug 2021 04:01 AM
पंचायत ने मौत की कीमत लगाई दो लाख रुपये

मवाना। संवाददाता

फलावदा के महलका में चौकीदार की मौत के मामले में पंचायत हुई और दो लाख रुपये में फैसला करा दिया गया। आरोपियों को अभयदान दिया गया और मामला रफादफा कर दिया। इस पूरे मामले में पुलिस को भनक तक नहीं लगने दी गई। कह दिया गया कि अब पुलिस के पास नहीं जाना है। यह मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

महलका में थाने का चौकीदार मीनू था। वह शराब का आदी था और शनिवार को भी दारू पीकर गांव में गया था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शनिवार रात जब चौकीदार मीनू गांव की एक मंदबुद्धि किशोरी को सहानुभूति के तौर पर कुछ पैसे दे रहा था, तभी किशोरी के परिजन वहां पहुंच गए। चौकीदार पर बदनियती का आरोप लगाकर उसकी पिटाई कर दी। गंभीर चोट के कारण चौकीदार को अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस मामले में परिजनों ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराने के प्रयास किए, लेकिन दबंगों ने उन्हें रोक दिया। मामला आपस में बातचीत के जरिए निपटा लेने की कवायद शुरू कर दी गई। रात को ही चौकीदार का शव दफना दिया गया। ग्रामीणों के मुताबिक मामले में लीपापोती करने के लिए गांव में पंचायत बुलाई गई, जिसमें आरोपियों पर दो लाख का अर्थदंड लगाए जाने का फरमान जारी किया गया। दो लाख रुपये के एवज में चौकीदार मीनू की हत्या के आरोपियों को अभयदान दे दिया गया। यह मामला गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है। उधर, फलावदा थानाध्यक्ष शिववीर भदौरिया का कहना है कि उन्हें इस बारे में कोई लिखित सूचना नहीं मिली है। सीओ उदय प्रताप ने बताया कि परिवार वालों ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है। परिवार वालों ने ही बताया था कि चौकीदार मीनू शराब का आदी था। यदि कोई शिकायत मिलती है तो कार्रवाई होगी।

सांत्वना देने पहुंचे विधायक

चौकीदार की मौत की सूचना पर विधायक संगीत सोम ने रविवार को पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। विधायक के साथ मूलचंद सैनी, विरेन्द राणा, पूर्व प्रधान रतनलाल, देवेन्द्र सैनी, आशीष जैन, सबूर रिजवी, हिमांशु शर्मा आदि मौजूद रहे।

संबंधित खबरें