DA Image
29 नवंबर, 2020|10:24|IST

अगली स्टोरी

आउट ऑफ स्कूल बच्चों के मेरठ ने किए अधिक दाखिले

default image

मेरठ। संवाददाता

आउट ऑफ स्कूल वाले बच्चों को चिह्नित करते हुए उनका नामांकन कराने में मेरठ ने लक्ष्य के सापेक्ष अधिक दाखिले कराए हैं। अधिकारी के मुताबिक जनपद को 3900 लक्ष्य मिला था जबकि अब तक 5000 रजिस्ट्रेशन कर दिए हैं। हालांकि, पोर्टल पर अपडेट की चाल सुस्त है जिस कारण स्थान को लेकर संशय बना हुआ है।

शिक्षा प्राप्त करना बच्चे का मौलिक अधिकार है। इससे उसे वंचित नहीं किया जा सकता है लेकिन कई बार विभिन्न परिस्थितियों में फंसकर वह पढ़ाई से वंचित रह जाते हैं। शासन ने एक बार फिर से शारदा स्कूल हर दिन आएं कार्यक्रम प्रारंभ किया है। इसमें बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से आउट ऑफ स्कूल बच्चों को चिह्नित कर परिषदीय स्कूलों में दाखिला कराने को लेकर कवायद चल रही है। इसमें बच्चों का चिह्नाकन, पंजीकरण और नामांकन कराया जाना है। चिह्नित सभी बच्चों की शत-प्रतिशत स्कूल में उपस्थिति भी सुनिश्चित कराई जानी है। कार्यक्रम में आंगनबाड़ी केंद्रों पर पंजीकृत पांच वर्ष की आयु पूरी कर चुके बच्चों को भी शामिल किया गया है। इनका प्रवेश कक्षा एक में होना है। इसके अलावा बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा चिह्नित 11 से 14 वर्ष की किशोरियों के भी नामांकन स्कूलों में कराए जाने हैं। मेरठ में अब तक 5000 बच्चों के रजिस्ट्रेशन किए जा चुके हैं।

कोट:

शासन की ओर से शारदा योजना के तहत 3900 का जनपद को लक्ष्य प्राप्त हुआ था जिसके सापेक्ष 5000 रजिस्ट्रेशन किए जा चुके हैं। इन्हें पोर्टल पर अपलोड करने का काम किया जा रहा है।

सतेंद्र कुमार, बीएसए

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Out of school children Meerut has more admissions