अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोहर्रम का चांद दिखा, सोग शुरू, आज से मजलिस, जुलूस

मोहर्रम का चांद दिखा, सोग शुरू, आज से मजलिस, जुलूस

मंगलवार को मोहर्रम का चांद नजर आ गया है। आज मोहर्रम की पहली तारीख है। यौमे आशूरा दस मोहर्रम 21 सितम्बर का होगा। मोहर्रम का चांद नजर आते ही महिलाओं ने अपने गहने और चूड़ियां उतार दी। पुरष, महिलाओं और बच्चों ने काले लिबास पहन कर गमगीन माहौल में अज़ादारी का आगाज़ किया। इधर, इमामबारगाहों और अजाखानों में अलम-ए-मुबारक जरी ताजिये सजा दिये गये।

शहर के साथ ही अब्दुल्लापुर और देहात में भी मोहर्रम का चांद दिखते ही सोग शुरू हो गया। सभी इमामबारगाहों और अजाखानों में अलम और ताजिये सजा दिए। महिलाओं ने अपने हाथों की चूड़ियां तोड़ दी। बच्चों ने हाय सकीना हाय प्यास के नारे बुलंद किए। नायाब अली एडवोकेट ने बताया कि अब्दुल्लापुर में नमाज-ए-मगरिब के बाद ताशों का गश्त हुआ। सभी अजाखानों और इमाम बारगाहों में मजलिसें शुरू हो गई। दूसरी ओर, अब्दुल्लापुर के मोहम्मद रजा, मुख्तार हुसैन आदि ने भी बिजली, पानी आपूर्ति, सफाई व्यवस्था के साथ ही सुरक्षा व्यवस्था की मांग की। कहा कि टूटी सड़कों को ठीक कराया जाए और जुलूस के रास्तों में सफाई कराई जाए।

दूसरी ओर, शहर में मातमी अंदुमनों, अन्जुमन इमामिया, अन्जुमन दस्तये हुसैनी, तंजीम-ए-अब्बास, अन्जुमन फौजे हुसैनी, अन्जुमन सज्जादिया जै़दी फार्म ने अनेकों इमामबारगाहों में मातमपुर्सी और नौहेख्वानी की। या हुसैन या अब्बास की सदाओं के बीच अनेकों अज़ाखानों में मजालिस और नौहेख्वानी का सिलसिला शुरू हुआ। चांद रात में एक जुलूस जामा मस्जिद अब्दुल्लापुर से इमाम बारगाह में अलम के साथ पहुंचा। नोहेख्वान रोशन अब्बास, मोहम्मद रजा, अम्मार यासिर, मीसम नकवी आदि ने इमाम हुसैन की याद में नौहें पढ़े। पार्षद शौकत गुप्ता, हसन अफरोज, मोहम्मद जुहैर, रहबर अली ने बताया कि मोहर्रम के कार्यक्रमों के लिए कमेटियां बनाई गई हैं।

मजलिसों का सिलसिला आज से शुरू होगा

मेरठ। मोहर्रम कमेटी के मीडिया प्रभारी अली हैदर रिज़वी ने बताया कि एक मोहर्रम से जैदी नगर सोसायटी स्थित इमामबारगाह पंजेतनी में सुबह 10 बजे मौलाना सैय्यद अम्मार हैदर रिज़वी आजमगढ़, इमामबारगाह दरबारे हुसैनी जै़दी फार्म में 11 बजे मौलाना अली रिज़वान बाराबंकी, इमामबारगाह मनसबिया घंटाघर में मौलाना सैय्यद नदीम अस़गर रिज़वी बनारस दो बजे, चौड़ा कुंआ लाला का बाज़ार स्थित छोटी कर्बला में मौलाना अब्बास बाकरी हैदराबाद सुबह आठ बजे तथा डॉ. अलहाज़ सैयद इकबाल हुसैन सफवी मरहूम के अज़ाखाने में शाम चार बजे मौलाना गुलाम अब्बास नौगांवा सादात रोज़ाना मजालिस को खिताब फरमाएंगे। इसके अलावा 13 सितंबर से जुलूसों का सिलसिला शुरू हो जाएगा। दो मोहर्रम को पहला जुलूस-ए-जुलजनाह शाम चार बजे इमामबारगाह जाहिदियान से बरामद होकर शिया मस्जिद से पैठ बाजार, बुढ़ाना गेट, सुभाष बाजार से गुजरता हुआ नायाब बेगम, मंजूर हुसैन के अज़ाखाने जाहिदियान पहुंचकर संपन्न होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:mohram ka chand