ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मेरठमेरठ : पूर्व सांसद शाहिद अखलाक को मीट प्लांट मामले में हाईकोर्ट से राहत

मेरठ : पूर्व सांसद शाहिद अखलाक को मीट प्लांट मामले में हाईकोर्ट से राहत

- मीट प्लांट को लेकर आवेदन पर विचार कर आदेश पारित करेगा मेडा - आदेश

मेरठ : पूर्व सांसद शाहिद अखलाक को मीट प्लांट मामले में हाईकोर्ट से राहत
हिन्दुस्तान टीम,मेरठFri, 08 Dec 2023 02:20 AM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ, मुख्य संवाददाता

पूर्व सांसद शाहिद अखलाक को मीट प्लांट मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट से राहत मिल गई है। हाईकोर्ट ने मीट प्लांट सील करने संबंधी मेरठ विकास प्राधिकरण (मेडा) के आदेश पर रोक लगा दी है। आदेश में मीट प्लांट को लेकर पूर्व और वर्तमान में दिए गए सभी जवाब पर विचार करते हुए आदेश पारित करने को कहा है। जब तक आदेश पारित नहीं होता तब तक किसी प्रकार की कार्रवाई न किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। मेडा वीसी अभिषेक पांडे का कहना है कि आदेश का अनुपालन किया जाएगा। वहीं पूर्व सांसद शाहिद अखलाक का कहना है कि उन्हें कानून पर हमेशा से भरोसा रहा है।

पूर्व सांसद शाहिद अखलाक ने अल-साकिब एक्सपोर्ट प्रा.लि.की ओर से हाईकोर्ट में याचिका दायर कर मेडा की ओर से 22 नवंबर के सीलिंग आदेश को चुनौती दी थी। याचिकाकर्ता अल साकिब एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता नवीन सिन्हा, वोमेश्वरी प्रसाद ने अदालत में कहा पूर्व में स्वीकृत नक्शे से अलग कार्य के विषय में नोटिस 2017 में दिया गया था। बाद में स्वीकृत मानचित्र की जांच के बाद नोटिस को खंडित कर दिया गया था।

फैक्ट्री में मीट प्रोसेसिंग का यूनिट लगी होना, किसी भी प्रकार से नगर नियोजन अधिनियम का उल्लंघन नहीं है, जबकि मेरठ विकास प्राधिकरण के अधिवक्ता जीएन मौर्य का कहना था कि उक्त फैक्ट्री का मानचित्र टेक्सटाइल के कार्य को स्वीकृत कराया गया था, जबकि मीट प्लांट का संचालन किया जा रहा है। इसके चलते नोटिस जारी किया गया था। अदालत ने कहा कि याचिकाकर्ता के पूर्व में दिए जवाबों और अन्य जवाबों को ध्यान में रखते हुए विकास प्राधिकरण सक्षम आदेश पारित करे। जब तक उक्त मामले में कोई सक्षम आदेश पारित नहीं किया जाता, मेडा कोई बलपूर्वक कार्रवाई न करे।

-----------------

आदेश का अनुपालन होगा

अल-साकिब एक्सपोट्स प्रा.लि.के मामले में हाईकोर्ट के आदेश की जानकारी मिली है। आदेश का अनुपालन होगा

- अभिषेक पांडे, वीसी,मेडा।

कानून पर भरोसा है

प्रारंभ से ही मुझे कानून पर भरोसा है। जब 2017 में नोटिस को जवाबों के आधार खंडित कर दिया गया था तो विचार होना चाहिए था

- शाहिद अखलाक, पूर्व सांसद व एमडी, अलसाकिब एक्सपोट्स प्रा.लि.

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें