DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मेरठ  ›  मेरठ : पश्चिमांचल में राजस्व वसूली का बना रिकॉर्ड, सूबे में पहला नंबर
मेरठ

मेरठ : पश्चिमांचल में राजस्व वसूली का बना रिकॉर्ड, सूबे में पहला नंबर

हिन्दुस्तान टीम,मेरठPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 01:50 PM
मेरठ : पश्चिमांचल में राजस्व वसूली का बना रिकॉर्ड, सूबे में पहला नंबर

मेरठ। हिन्दुस्तान टीम

एकमुश्त समाधान योजना में पश्चिमांचल ने सूबे में अन्य डिस्कॉम को पछाड़कर बाजी मारी है। पश्चिमांचल में बकायेदार दस लाख 32 हजार 950 उपभोक्ताओं ने पंजीकरण कराकर ओटीएस योजना के तहत शत प्रतिशत सरचार्ज छूट का लाभ उठाया। पश्चिमांचल डिस्कॉम के 14 जिलों में पहले एकमुश्त समाधान योजना में 400 करोड़ से लेकर 600 करोड़ तक का राजस्व आता था। इस बार एक हजार करोड़ से अधिक का राजस्व वसूला गया। एमडी अरविंद मल्लप्पा बंगारी ने पश्चिमांचल के अव्वल रहने पर अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है।

एमडी पीवीवीएनएल अरविंद मल्लप्पा बंगाली ने बताया कि पश्चिमांचल के 14 जिलों में एकमुश्त समाधान योजना के तहत दस लाख 32 हजार 950 उपभोक्ता जो बकाएदार थे, उन्होंने पंजीकरण कराया। दक्षिणांचल में करीब सात लाख, मध्यांचल में करीब नौ लाख उपभोक्ताओं, पूर्वांचल में भी करीब नौ लाख और केस्को में 11,153 उपभोक्ताओं ने योजना का लाभ उठाया।

सूबे में पहले नंबर पर रहा पश्चिमांचल

एकमुश्त समाधान योजना में प्रदेश में पश्चिमांचल डिस्कॉम अव्वल रहा। पहले एकमुश्त समाधान योजना में 600 करोड़ के आसपास तक का राजस्व आया था। इस बार एक हजार करोड़ अधिक का राजस्व आया।

- अरविंद मल्लप्पा बंगारी, एमडी, पीवीवीएनएल

संबंधित खबरें