DA Image
25 अक्तूबर, 2020|7:41|IST

अगली स्टोरी

मेरठ-प्रयागराज गंगा एक्सप्रेस-वे: एलाइनमेंट की होगी जांच

मेरठ-प्रयागराज गंगा एक्सप्रेस-वे: एलाइनमेंट की होगी जांच

मेरठ-प्रयागराज गंगा एक्सप्रेस-वे के पहले चरण मेरठ जिले के एलाइनमेंट की जांच होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किठौर विधायक सत्यवीर त्यागी के साथ शुक्रवार को लखनऊ में मिले किसानों के प्रतिनिधियों को यह आश्वासन दिया। उन्होंने यूपीडा के सीईओ को बुलाकर किसानों की शिकायत पर कार्रवाई के निर्देश दिये।

मेरठ-प्रयागराज गंगा एक्सप्रेस-वे के 27 अगस्त को जारी एलाइनमेंट को लेकर खरखौदा क्षेत्र के 19 गांवों के किसान विरोध कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि नया एलाइनमेंट दोषपूर्ण है। उनका तर्क है कि उनके गांवों की जमीन के बैनामे पर 14 महीने से रोक लगी है, जबकि नए एलाइनमेंट के गांवों में बैनामे अब भी हो रहे हैं। पुराने एलाइनमेंट में सरकारी जमीन भी काफी उपलब्ध है। किसानों ने इस मामले में किठौर विधायक सत्यवीर त्यागी के साथ शुक्रवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री से मुलाकात की। अशोक धनौटा के नेतृत्व में नौ सदस्यीय किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को एलाइनमेंट को लेकर सारी बातें बताई। किसान प्रतिनिधि अशोक धनौटा का कहना है कि मुख्यमंत्री ने इस मामले में जांच का आश्वासन दिया है। उन्होंने यूपीडा के सीईओ को बुलाकर किसानों की शिकायत पर कार्रवाई के निर्देश भी दिये हैं। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद किसान अब आश्वस्त हैं कि उनके साथ न्याय होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Meerut-Prayagraj Ganga Expressway alignment to be investigated