DA Image
29 जनवरी, 2020|1:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वच्छता सर्वेक्षण : गार्बेज फ्री स्टार रेटिंग टीम आई, गोपनीय दौरा कर गई

default image

गार्बेज फ्री स्टार रेटिंग टीम गुरुवार को एक बार फिर शहर में पहुंची। छह सदस्यीय टीम शहर के विभिन्न स्थानों का गोपनीय तौर से दौरा कर रही है। गूगल मैपिंग के आधार पर विभिन्न क्षेत्रों में कूड़ा स्थलों और कूड़ा निस्तारण केंद्रों का जायजा ले रही है। दूसरी ओर, सूत्रों की मानें तो स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए भी एक टीम शहर में पहुंची थी, जो गुपचुप दौरा कर चली गई।

गार्बेज फ्री स्टार रेटिंग टीम इससे पूर्व शहर में आई थी। बताते हैं कि उस समय शहर में इंटरनेट सेवा नहीं चल पा रही थी। तब टीम कैंट के आठ वार्डों का जायजा लेकर हाथरस चली गई थी। अब यह टीम शहर में कूड़ा निस्तारण स्थल गावड़ी, शास्त्रीनगर, जागृति विहार, घंटाघर सहित शहर के विभिन्न स्थलों का जायजा लिया है। इस दौरान शहर की सफाई व्यवस्था के साथ ही कूड़ा स्थलों और कूड़ा निस्तारण केंद्रों का निरीक्षण किया।

टीम शुक्रवार को भी शहर में गार्बेज फ्री सिटी के दावे की पड़ताल करेगी। उसके बाद शासन को रिपोर्ट देगी। नगर निगम ने उपलब्ध संसाधनों और शहर की स्थिति के आधार पर गार्बेज फ्री 5 स्टार रेटिंग का दावा किया है। शहर की स्थिति के आधार पर यह टीम गार्बेज फ्री स्टार की रैंकिंग करेगी। इस टीम की रिपोर्ट के बाद शहर में ओडीएफ प्लस के दावों की पड़ताल के लिए दूसरी टीम आएगी। तब जाकर स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के पड़ताल की तीसरी टीम आएगी। दूसरी ओर, जानकारी के मुताबिक एक अन्य टीम मेरठ आई थी, जो गुपचुप दौरा कर गई।