DA Image
25 जनवरी, 2020|2:43|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्यमंत्री गंगा में छोड़ेंगे कछुए और घड़ियाल

default image

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गंगा यात्रा पर मेरठ आएंगे। 27 जनवरी को बिजनौर के सबलगढ़ से गंगायात्रा का आरंभ करेंगे। वन विभाग ने मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के मद्देनजर अपने कार्यक्रमों की तैयारी कर ली है। गंगा में 16 घड़ियाल और 301 कछुओं का छोड़ा जाएगा। हस्तिनापुर में गंगा नर्सरी और गंगा उद्यान का उद्घाटन करने के साथ पौधारोपण भी सीएम करेंगे।

प्रदेश मुख्यालय से जारी निर्देशों के बाद विभिन्न विभागों के अधिकारी तैयारियों में जुटे हैं। गंगा किनारे गांवों में विकास कार्य गति पकड़ गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बिजनौर से 27 जनवरी को निकलेंगे और स्टीमर से गंगा यात्रा करते हुए हस्तिनापुर पहुंचेंगे। इससे पहले सबलगढ़ में गंगा पूजन करेंगे। फिर उनका तैयबपुर गौरवा में स्वागत और सभा होगी। बिजनौर बैराज पर भी जनसभा को संबोधित करेंगे। रामराज में जनसभा को संबोधित करेंगे।

हस्तिनापुर पहुंचने पर राजकीय इंटर कालेज में जनसभा को संबोधित करेंगे। विभिन्न विभागों की तैयारियां हैं कि यहां विभिन्न विकासपरक योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन मुख्यमंत्री के हाथों कराएं। वन विभाग ने भी तैयारियां की हैं।

डीएफओ अदिति शर्मा ने गुरुवार को विभागीय तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि मखदूमपुर घाट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गंगा आरती करेंगे। इसी दौरान विभाग की तैयारी है कि 16 घड़ियाल और 301 कछुओं को गंगा में मुख्यमंत्री द्वारा छोड़ा जाए। मुख्यमंत्री से गंगा उद्यान और गंगा नर्सरी का शिलान्यास कराया जाएगा। वन विभाग खानपुरी गढ़ी गांव में 50 हजार फलदार पौधों की क्षमता की गंगा नर्सरी और सिकंदरापुर गांव में पांच हेक्टेयर में फलदार पौधों का गंगा उद्यान स्थापित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री से पौधारोपण भी कराया जाएगा।