Aunt and brother murdered innocent Abdullah in a rivalry - रंजिश में बुआ और भाई ने किया था मासूम अब्दुल्ला का कत्ल DA Image
12 दिसंबर, 2019|9:01|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रंजिश में बुआ और भाई ने किया था मासूम अब्दुल्ला का कत्ल

लिसाड़ी गेट के अहमदनगर में हुई चार साल के बच्चे की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुरानी रंजिश और टशनबाजी को लेकर वारदात को बच्चे की बुआ ने अपने बेटे के साथ अंजाम दिया था। बच्चे को अगवा कर गला दबाकर हत्या की गई। इसके बाद लाश को बंद पड़े मकान में रखा गया। उसी रात लाश को लाकर नाले में फेंका गया। पुलिस ने फिलहाल महिला और उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया है।

अहमदनगर गली -1 निवासी शकील के चार साल के बेटे अब्दुल्ला का 24 नवंबर को अपहरण कर लिया गया था। अब्दुल्ला को लेकर उसकी मां गुड़िया शकील की ममेरी बहन जीनत के घर आई थी। यहीं से बच्चा गायब हुआ था। तीन दिसंबर को अब्दुल्ला की लाश अहमदनगर गली-6 में नाले में मिली थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया था। इस पूरे मामले में पुलिस ने शक के आधार पर शकील की ममेरी बहन जीनत और उसके बेटे जुल्फिकार को उठा लिया था। पुलिस के हाथ एक सीसीटीवी फुटेज भी लगी, जिसमें 24 नवंबर की रात के समय जुल्फिकार एक बच्चे को गोद में ले जाते हुए दिखाई दे रहा है।

पूछताछ में जुल्फिकार ने खुलासा किया कि शकील व उसके परिवार के लोग लगातार ताने मारते थे। कुछ साल पहले एक शादी समारोह में भात देने के दौरान भी कहासुनी हुई थी। इसके अलावा शकील के परिवार की महिलाएं उन्हें घर आने से भी रोकती थी। जुल्फिकार ने बताया कि शकील की ओर से कई बार उसकी पत्नी और परिवार को लेकर भी बयानबाजी की थी। इसी बात से वो गुस्से में था और बदला लेना चाहता था। ऐसे में मां जीनत के साथ मिलकर अब्दुल्ला की हत्या की प्लानिंग की। साजिश के तहत 24 नवंबर गुड़िया और अब्दुल्ला को घर बुलाया था। इस दौरान जीनत ने गुड़िया को बातों में उलझाकर रखा और दूसरी ओर जुल्फिकार चॉकलेट दिलाने के बहाने अब्दुल्ला को अहमदनगर गली-23 में एक बंद पड़े मकान में ले गया। वहीं पर जुल्फिकार ने अब्दुल्ला की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद लाश को वहीं छोड़ दिया। बाद में उसी रात को करीब दो बजे बच्चे की लाश को बंद मकान से निकालकर नाले में फेंक दिया था।

पुलिस को नहीं देने दी सूचना

पुलिस अधिकारियों ने पूछताछ की तो खुलासा हुआ कि अब्दुल्ला के लापता होने की खबर 24 घंटे तक जीनत और जुल्फीकार ने पुलिस को नहीं देने दी। इसके बाद भी लगातार पुलिस के पास नहीं जाने का दबाव बना रहे थे। पुलिस ने जुल्फिकार को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पूरी वारदात का खुलासा हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Aunt and brother murdered innocent Abdullah in a rivalry