meerut news - पैरामिलिट्री फोर्स की निगरानी में 15 तक शहर DA Image
12 नबम्बर, 2019|6:20|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पैरामिलिट्री फोर्स की निगरानी में 15 तक शहर

पैरामिलिट्री फोर्स की निगरानी में 15 तक शहर

अयोध्या प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के चंद घंटे बाद ही पूरा शहर पटरी पर आ गया। बाजारों में रविवार को भीड़ उमड़ी। कई इलाकों में दिनभर जाम की स्थिति रही। संवेदनशील इलाकों में पुलिस, पीएसी और पैरा मिलिट्री फोर्स का पहरा रहा। हालांकि लोग अयोध्या फैसले पर चर्चा करते जरूर दिखाई दिए। डीएम और एसएसपी ने 15 नवंबर तक सुरक्षा ऐसे ही बनाए रखने का निर्देश दिया है। देर शाम कमिश्नर और आईजी ने कई क्षेत्रों का दौरा किया।

अयोध्या प्रकरण में शनिवार सुबह साढ़े 10 बजे सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला आया। पुलिस-प्रशासन की सक्रियता और धर्मगुरुओं की बैठकों का नतीजा यह रहा कि कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। सब कुछ सामान्य दिनों जैसा रहा। फैसले के दूसरे दिन रविवार को सब कुछ सामान्य हो गया। पहले की तरह बाजार खुले। सभी बाजारों में सुबह से शाम तक चहल-पहल रही। एक दिन मार्केट बंद रहने के चलते उसका प्रभाव रविवार को दिखा। बाजारों में पैर रखने तक की जगह नहीं थी। आबूलेन, हापुड़ अड्डा, भगत सिंह मार्केट, सेंट्रल मार्केट, सदर बाजार में खूब भीड़ रही। कोतवाली सर्किल में सिटी मजिस्ट्रेट संजय पांडेय और सीओ दिनेश शुक्ला दिनभर मुस्तैद रहे। कोतवाली क्षेत्र के 28 संवेदनशील प्वाइंट पर वह दिनभर निगाह बनाए रहे।

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि मेरठ में फिलहाल सात कंपनी पीएसी, आरएएफ और बीएसएफ मौजूद है। इस फोर्स को 15 नवंबर तक सभी संवेदनशील स्थानों पर तैनात रखा जाएगा। जिला प्रशासन ने भी फैसले के बाद के 48 घंटे बेहद महत्वपूर्ण बताए हैं। इसलिए ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को फिलहाल वहीं रहने का निर्देश दिया है। एसएसपी ने रविवार को पूरे अमले के साथ शहर के कई इलाकों में दौरा कर व्यवस्थाएं देखी। शाम को कमिश्नर अनीता सी.मेश्राम और आईजी आलोक सिंह शहर की सुरक्षा व्यवस्था देखने निकले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:meerut news