meerut news - नवीन गुप्ता ने अकेले चुनाव लड़ने की अरूण वशिष्ठ को दी खुली चुनौती DA Image
14 दिसंबर, 2019|1:49|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवीन गुप्ता ने अकेले चुनाव लड़ने की अरूण वशिष्ठ को दी खुली चुनौती

default image

संयुक्त व्यापार संघ के चुनाव नजदीक आते ही अध्यक्ष और महामंत्री खेमों में वाकयुद्ध और गहमागहमी तेज हो गई। शुक्रवार को अध्यक्ष नवीन गुप्ता ने प्रेंस कॉन्फ्रेंस में महामंत्री अरूण वशिष्ठ पर पलटवार किया। महामंत्री को अध्यक्ष ने खुली चुनौती दी और कहा कि वह अकेले अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ लें। जो जीत जाएगा वह पूरी कार्यकारिणी बना लेगा। साथ ही महामंत्री द्वारा बुलाई गई 17 सितंबर को आम सभा को असंवैधानिक करार दिया।

गढ़ रोड स्थित होटल हारमनी इन में प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपना पक्ष रखा। उन्होंने अपना पक्ष रखा और कहा कि व्यापारियों के हित में उन्होंने लगातार साथियों के साथ संघर्ष किया। महामंत्री, कोषाध्यक्ष समेत दूसरे पदाधिकारियों पर ही संगठन की स्थिति के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने महामंत्री अरुण वशिष्ठ द्वारा 17 सितंबर को बुलाई आम सभा को असंवैधानिक करार दिया। कहा कि तीन सालों में महामंत्री व अन्य पदाधिकारियों कोई फुर्सत नहीं मिली। कहा कि उन्होंने 612 संस्थाओं का चंदा उनके पास है, लेकिन कोषाध्यक्ष रसीदें नहीं काट रहे। जबकि दो पदाधिकारियों के कोर्ट मामले में तीन लाख रुपये एकत्रित किए थे। तब कोषाध्यक्ष ने रसीदें काटने के लिए दे दी थी।

अध्यक्ष नवीन गुप्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में महामंत्री को खुली चुनौती दी कि सूची अलग रखें और वह उनके सामने अकेले अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ लें। जो चुनाव जीत जाएगा। वह कार्यकारिणी बना लेगा। इसके अलावा संघ के दफ्तर के ताले तोड़ने से लेकर वहां फिर पदाधिकारियों के नहीं बैठने को लेकर सवाल किए। फर्जी वोटों के सवाल पर कहा कि संस्था पुरानी और आम सभा में पास है। कहा कि संगठन के विघटन और तोड़ने के प्रयास किए जा रहे है। संस्था हित में इसे सफल नहीं होने देंगे। नवीन गुप्ता का अरुण वशिष्ठ के साथ जोड़ी टूटने का दर्द तो झलका, लेकिन संगठन की खातिर एकजुटता के लिए पहल के सवाल पर रहा कि महामंत्री आम सभा को वापस लें।

अध्यक्ष-महामंत्री दोनों के बीच एकजुटता की कोशिशें तेज

मेरठ। संयुक्त व्यापार संघ अध्यक्ष नवीन गुप्ता और महामंत्री अरुण वशिष्ठ गुटों के बीच उठापठक और संगठन को लेकर लगातार छप रही खबरों और संगठन पर पड़ रहे असर को लेकर कुछ व्यापारी दोनों के बीच सुलह कराने के लिए सक्रिय हो गए। कुछ व्यापारी नेता संगठन की खातिर तेज हुई खींचतान और वाकयुद्ध पर विराम लगाने के लिए कोशिश में जुट गए कि दोनों पक्षों को बैठाकर आम सभा से पहले ही कोई कोई समाधान निकाल लें। क्योंकि महामंत्री ने 17 सितंबर को और अध्यक्ष ने 18 सितंबर को आम सभा बुलाई है। इससे व्यापारी दो धड़ों में नजर आ रहे है। व्यापारी नेता मुकुल सिंघल, नवीन अरोड़ा समेत कई व्यापारी नेता सक्रिय भूमिका में आ गए। लल्लू मक्कड़ ने कहा कि दोनों ही पदाधिकारी मनमुटाव छोड़कर संगठन-व्यापारी हित में एकजुट हो।

नवीन गुप्ता चुनौती देने में भी भूले संघ का संविधान

संघ संविधान की दुहाई देने वाले अध्यक्ष नवीन गुप्ता ने आमने-सामने चुनाव लड़ने की जो चुनौती दी इसमें भी वह संविधान को भूल गए। जो अध्यक्ष को चुनते है, वहीं महामंत्री समेत कुल 16 पदाधिकारियों को चुनते है। ओपी खन्ना, धर्मवीर आनंद, सत्यप्रकाश अग्रवाल, बिजेंद्र अग्रवाल के अध्यक्ष का कार्यकाल भी देखा। जितना विवाद बढ़ाना चाहे वह बढ़ाया जा सकता है। हम तो संस्था के हित में आज भी तैयार है। सब चीजों के लिए दोषी हमें बता रहे है। चुनौती देकर सद्भावना वाली बात नहीं कर रहे।

अरुण वशिष्ठ, महामंत्री

नवीन गुप्ता सामूहिक रूप से सबको साथ लेकर चलते

कौन लड़े कैसे लड़े। सूची नियमावली के मुताबिक तैयार करा दें। पारदर्शिता बना दें। कोई भी चुनाव लड़े। संगठन की वोटर लिस्ट को लेकर 15 साल पहले गरिमा को लौटा दें। दो लाख रुपये केरल पीड़ितों की मदद के लिए गए तो कह रहे है कि पदाधिकारी बैठते और विचार-विमर्श करते। आमसभा बुलाई तो पहले अध्यक्ष को भी अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठकर वार्ता करनी चाहिए थी। संगठन के मुखिया के तौर पर सामूहिक रूप से सबको साथ लेकर चलना चाहिए था।

कमल ठाकुर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष

निजी हित आड़े आए तो पदाधिकारी याद नहीं आते

अध्यक्ष नवीन गुप्ता के सामने राष्ट्र हित का मुद्दा आए तो 16 पदाधिकारियों की याद आती है। केरल मं भूंकप पीड़ितो के लिए दो लाख भेजे थे। इसमें सभी पदाधिकारियों की राय को जरूरी कहा। निजी हित में चंदा एकत्रित करना हो तो कोषाध्यक्ष की आवश्यकता नहीं, और आम सभा बुलाने के लिए महामंत्री की आवश्यकता नहीं। अध्यक्ष का एक ही कहना है कि जिसमें मेरा फायदा, वो ही मेरा कायदा। नवीन गुप्ता संगठन को दो फाड़ करना चाहते है।

सरदार दलजीत सिंह, उपाध्यक्ष संयुक्त व्यापार संघ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:meerut news