meerut news - अव्यवस्थाओं की पटरी पर शुरू हुआ शिवभक्तों का आवगमन DA Image
17 फरवरी, 2020|9:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अव्यवस्थाओं की पटरी पर शुरू हुआ शिवभक्तों का आवगमन

अव्यवस्थाओं की पटरी पर शुरू हुआ शिवभक्तों का आवगमन

आधी अधूरी तैयारियों के बीच कांवड़ यात्रा मार्ग पर शिवभक्तों का आवगमन शुरू हो गया है। अभी न तो यहां पथ प्रकाश की व्यवस्था हुई है और न ही पानी के लिए हैंडपम्प हैं। इसके अलवा भी कोई सुविधा शिवभक्तों के लिए नहीं है। अभी यहां तैयारियां ही चल रही हैं। शनिवार को शिवभक्तों का आवगमन शुरू हुआ, तो प्रशासनिक अधिकारी हकरत में आ गए। उन्होंने कांवड़ पटरी पर कार्य करा रहे ठेकेदारों को जल्द से जल्द काम पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

शनिवार अल सुबह शिवभक्तों का एक जत्था सरधना क्षेत्र में पहुंचा, तो उन्हें देखने के लिए लोग उमड़ पड़े। यह जत्था बरेली जिले के फरीदपुर कस्बा गांव आलुपर का था। इस जत्थे में चार लोग शामिल थे। जोकि हरिद्वार से जल लेकर गांव के लिए रवाना हुए हैं। जत्थे में शामिल रामपाल, मुकेश, आदित्य और नमन शर्मा ने बताया कि हरिद्वार से लेकर सरधना तक उन्हें कांवड़ मार्ग पर न तो कहीं पथ प्रकाश व्यवस्था मिली और न ही अन्य कोई सुविधा। पीने का पानी भी उन्हें गंगनहर पुलों पर ही मिला है। वह दिन-रात यात्रा कर अपने गंतव्य की और बढ़ रहे हैं। उधर, गंगनहर पटरी कांवड़ मार्ग पर प्रशासन व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने में लगा हुआ है। प्रशासन का टारगेट 15 जुलाई तक सभी कार्य पूरा कराने का है। फिलहाल पथ प्रकाश व्यवस्था का कार्य प्रगति पर है। दूसरी और शनिवार को कांवड़ियों का आवगमन होने पर प्रशासन में खलबली मच गई। अधिकारियों ने तुरंत कार्य करा रहे ठेकेदरों को जल्द से जल्द अपने-अपने कर्य निपटाने के निर्देश दिए। मुख्य रूप से पथ प्रकाश व्यवस्था देख रहे ठेकेदार को रविवार तक लाइटे चालू करने के लिए कहा गया है।बड़े वाहनों पर नहीं लगी पाबंदीकांवड़ मार्ग पर शिवभक्तों का आवगमन शुरू हो गया है, लेकिन उसके बाद भी मार्ग पर बड़े वाहनों पर पाबंदी नहीं लग पाई है। गंगनहर पुलों पर बेरियर केवल दिखावे के लिए लगे हुए हैं। वाहनों की रोकथाम के लिए पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगी है, लेकिन उकसे बाद भी वाहनों पर पाबंदी नहीं है। यदि पुलिस प्रशासन ने बड़े वाहनों पर पाबंदी नहीं लगाई तो कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।